गणतंत्र दिवस की धूम, भारत में लाल किले पर उपद्रव, प्रदर्शनकारी ने फहराया झंडा

रिपब्लिक डे परेड में तीन सेनाओं की ताकत के साथ अलग-अलग राज्यों, मंत्रालयों, सुरक्षाबलों की झांकियां भी देखने को मिलीं। पहली बार लड़ाकू विमान राफेल ने परेड में हिस्सा लिया

India Republic Day 2021 Parade, Flag Hoisting Live Updates: A total of 32 tableaux — 17 of various states and UTs, nine of ministries and six from the defence arm — were seen going down Rajpath. Among these, the tableaux of Ladakh –– the Union Territory that was created in 2019 after bifurcation of Jammu & Kashmir –– were included for the first time.

गणतंत्र दिवस पर देशभर में धूमधाम का माहौल है। इस बीच राजधानी दिल्ली में किसानों के आंदोलन में शामिल कुछ लोगों ने हिंसा फैलाने की कोशिश की। दूसरी तरफ कोविड-19 के खतरे के बीच बीजिंग, सिंगापुर समेत दुनिया के कई देशों में भारतीयों ने राष्ट्र ध्वज फहराकर गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने बीजिंग में भारतीय दूतावास में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। राजधानी में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति के कारण इस बार समारोह में केवल मिशन के अधिकारी और उनके परिवार वाले ही पहुंचे। मिस्री ने राष्ट्र के नाम राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद का संबोधन पढ़ा। उन्होंने ‘चैती आर्ट्स फाउंडेशन’ द्वारा बनाए ”वंदे मातरम” के एक विशेष वाद्य गीत को भी जारी किया। इस बीच दिल्ली में ऐतिहासिक लाल किले पर प्रदर्शनकारी किसानों ने उपद्रव किया और अपना झंडा फहराया। राजधानी में कई जगह ट्रैक्टर परेड के दौरान वाहनों में तोड़फोड़ की गई। पुलिस ने स्थिति नियंत्रण में करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया।

गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली के बॉर्डर इलाकों में किसानों को ट्रैक्टर रैली की इजाजत मिली थी। इस दिन सुबह के वक्त किसानों का प्रदर्शन तय रूट के मुताबिक ही शुरु हुआ लेकिन दिन चढ़ते-चढ़ते किसानों की ट्रैक्टर रैली अपने रूट से भटक गई। कई जगहों पर तय रूट से अलग प्रदर्शनकारियों ने अपनी रैली निकालने की कोशिश की और इसका परिणाम यह हुआ कि दिल्ली पुलिस के साथ कई जगहों पर इनकी झड़प हुई।

देश आज अपना 72वां गणतंत्र दिवस (Republic Day) मना रहा है। गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के राजपथ (Rajpath) पर भारत की सैन्य ताकत और संस्कृति की अनोखी झलक देखने को मिली। रिपब्लिक डे परेड में तीन सेनाओं की ताकत के साथ अलग-अलग राज्यों, मंत्रालयों, सुरक्षाबलों की झांकियां भी देखने को मिलीं। पहली बार लड़ाकू विमान राफेल ने परेड में हिस्सा लिया और पूरी दुनिया को अपना दम दिखाया। राफेल की गरज से पूरा आसमान गूंज गया।

परेड का मुख्य आकर्षण सैन्य ताकत, राज्यों की अलग-अलग संस्कृति, बांग्लादेश का 122 सदस्यों का कॉन्टिनजेन्ट, स्कूलों के बच्चों की ओर से पेश कार्यक्रम रहा। उत्तर प्रदेश की झांकी में राम मंदिर की झलक दिखाई दी जबकि पंजाब की झांकी गुरु तेग बहादुर जी को समर्पित रही। कोरोनाकाल के बावजूद राजपथ पर गणतंत्र दिवस का कार्यक्रम शानदार तरीके मनाया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तिरंगा फहरा कर रिपब्लिक डे परेड कार्यक्रम की शुरुआत की। इधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेशनल वॉर मेमोरियल में देश की सेवा में शहादत देने वाले जवानों को सलामी दी।

इस बार का गणतंत्र दिवस कई मायनों में अलग है। इसमें सबसे अहम कोविड-19 से पैदा हुए हालात के कारण सामने आए बदलाव हैं। कोरोनावायरस महामारी के चलते इस बार गणतंत्र दिवस समारोह में अतिथियों और दर्शकों की संख्या कम रहेगी। सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाए रखने जैसी एहतियात गणतंत्र दिवस समारोह में भी दिखेगी।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x