प्रयुक्ति का मालिक संपथ कुमार सूरप्पगारि महाठग गिरफ्तार-

दिल्ली, 
दिल्ली में पत्रकारों, प्रिंटर्स और अन्य का करोड़ों रुपये मार जाने वाला प्रयुक्ति का मालिक संपथ कुमार सूरप्पगारि आखिरकार आंध्र प्रदेश में चढ़ा पुलिस के हत्थे।
 
शर्म की बात तो यह है कि ऐसा ठग हिन्दी अखबार का मुख्य संपादक है – 

यह व्यक्ति दिल्ली से प्रयुक्ति (हिंदी दैनिक अखबार निकालता है। यह पत्रकारों और प्रिंटर्स समेत तमाम लोगों का करीब 80 लाख रुपये मार चुका है। इसके लाखों रुपये के चेक बाउंस हो चुके हैं।

कुछ लोगों ने अदालत का दरवाजा भी खटखटाया है। उनमें मैं भी हूं। इस व्यक्ति ने मुझे भी स्थानीय संपादक होने के नाते तीन माह की सेलरी का चेक दिया था। वह बाउंस हो चुका है। पीएफ के पैसे का चेक भी बाउंस हो चुका है। 
हैदराबाद के साक्षी डाट काम में इस खबर का प्रकाशन 12 मार्च 2019 को भी हुआ है। 
हैदराबाद : तेलंगाना पुलिस ने नकली आईएएस अधिकारी बनकर ठगी करने वाले एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है, जो लोगों को तरह तरह से ठगा करता था। हैदराबाद की चादरघाट पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
बताया जा रहा है कि स्थानीय मंदिर समिति के प्रतिनिधियों ने वारंगल जिले व मेडिपल्ली के रहने वाले संतोष कुमार की शिकायत की थी कि वह उसको झांसा देकर पैसे ऐंठ लिए हैं। इसी के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है।
जानकारी के अनुसार, संपत कुमार खुद को आईएएस अधिकारी व संसद सहायक प्रशासनिक अधिकारी बताते हुए 30 लोगों से लगभग ₹6 करोड़ का चूना लगा चुका है। वह तरह -तरह तमाम हथकंडे इस्तेमाल करके लोगों को ठगा करता था।
खुद को आईएएस अधिकारी बताकर वह मंदिर के विकास के लिए 3 करोड़ रुपए दिलाने की बात कर रहा था और इसके बदले उनसे पैसे की मांग किया था। इसकेे लिए मंदिर प्रबंधन से एक करोड़ से अधिक रुपए वसूल लिए थे।
काफी दिनों तक आनाकानी करने के बाद शिकायतकर्ता ने चादरघाट पुलिस से -संपर्क किया और इसके बाद पुलिस ने कार्यवाही करते हुए दिलसुख नगर से संपत कुमार को गिरफ्तार किया।
इसके बाद उसके पास से एक लैपटॉप, दो सेलफोन, सोने के आभूषण, 5 डेबिट कार्ड और फर्जी आईएएस अधिकारी का पहचान पत्र भी बरामद किया है। बाद में उसे अदालत में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।
————–

संपथ का सहयोगी – 

दिल्ली में इसका दूसरा सहयोगी विनय कुमार गुली है। यह भी वहीं का रहने वाला है। एक और सहयोगी राव है। यह दिल्ली का रहने वाला है।
—————

इसके गुनाहों की परतें परत-दर-परत खुलने लगी हैं। 

—————
पीड़ितों के बयान  – 
1- संपथ तू कानून से बड़ा नहीं है। आखिर हथकड़ी लग ही गई ना। तू नोएडा के सेक्टर20 थाने से जरूर बच निकला पर अब कहां कहां बचेगा। हैदराबाद पुलिस ने तेरा पूरा कच्चा चिट्ठा दिल्ली पुलिस के पास भेज दिया है।
2- कितने आफिस बदलेगा। करोलबाग, इसके बाद नोएडा और इसके बाद नेताजी सुभाष पैलेस….अब बचकर कहां जाएगा।
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x