कोरोना योद्धा पत्रकार से एस आई ने की बदसलूकी

सच की दस्तक न्यूज़ डेस्क चन्दौली

महामारी कोरोना वायरस में जहाँ दिन रात कर पत्रकार कोरोना योद्धा की तरह कोरोना की खबरों को लोगों तक पहुंचाने में लगा है।कुछ ही दिन पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस और पत्रकारों का सम्मान किया था।उसमें पत्रकार मोतीलाल गुप्ता भी थे। वहीं जलीलपुर चौकी पर कुछ दिनों से तैनात एसआई विनय राय अपने वर्दी का धौस दिखा कर पड़ाव इसी हिंदीं दैनिक संवावदाता मोती लाल गुप्ता घर के गेट पर खड़े थे। तभी एसआई विनय राय पड़ाव चौराहा से आ कर पत्रकार मोती लाल गुप्ता को घर के अंदर जाने को बोला और कहा की तुम जैसे लोगों को सुधारने के लिए हमें भेजा गया हैं।

यह भाषा पुलिस विभाग पर सवाल खड़ा करता हैं कि उनको ऐसे भाषा बोलने का अधिकार कौन दिया है। इस विकट परिस्थितियों में जहाँ पत्रकार अपनी जान जोखिम मे ड़ालकर काम कर रहे हैं ऐसे में एसआई विनय राय को गाली गलौच करने का अधिकार कहाँ से मिला I वही पुलिस विभाग के एक कर्मचारी ने बताया कि एसआई विनय राय को स्पेशली तौर पर उक्त चौराहे पर ही ड्यूटी करने के लिए भेजा गया है खासकर आने जाने वाले राहगीरों और वाहनों की जांच पड़ताल के लिए भेजा गया है बावजूद मंगलवार की सुबह बहादुरपुर मार्ग में स्थित मुख्य बाजार में दो हम रानियों को लेकर सोशल डिस्टेंसिंग का जायजा लेने के लिए निकले जहां पर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही थी वह एस आई को नहीं दिखी द्वार पर खड़े पत्रकार मोतीलाल गुप्ता जो द्वार की सफाई करने के पश्चात जैसे ही खड़ा हुआ कि गाली गलौज देते हुए पत्रकार को हाथ पकड़कर द्वार से बाहर खींचने लगे सड़क पर तुम्हें बताते हैं पत्रकार ने कहा कि आप हमें पहचान नहीं रहे हैं मैं अभी एसपी महोदय से बात करता हूं इतने में एस आई विनय राय और भड़ककर गाली देते हुए कहा तुम जैसे हरामखोरो को सुधारने के लिए ही मुझे यहां ड्यूटी पर लगाया गया है किसी तरह हाथ छुड़ाकर पत्रकार अपने घर में चला गया इस संबंध में पत्रकार ने एसपी चन्दौली को फोन कर बात की तो कार्रवाई का भरोसा दिया

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x