सी.आर.पी.एफ. ने देश की सेवा में समर्पित किये 42 अधिकारी

सच की दस्तक नेशनल न्यूज़ डेस्क
देश के सबसे बड़े केंद्रीय अर्धसैनिक बल केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सी.आर.पी.एफ.) ने अपने 81 वर्ष के इतिहास में पहली बार गुरुग्राम के कादरपुर स्थित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल अकादमी में दिनांक 24 अप्रैल 2020 को ई-पासिंग आउट परेड का आयोजन किया। इस ई-पासिंग आउट परेड के माध्यम से सी.आर.पी.एफ. के 51वें बैच के सीधे नियुक्त राजपत्रित प्रशिक्षु अधिकारियों को देश की सेवा में समर्पित किया गया । इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी ने DAGOs (सीधे नियुक्त राजपत्रित प्रशिक्षु अधिकारीयों ) को उनकी उत्कृष्ट तैयारी और समर्पण के लिए बधाई दी । उनका यह संदेश सी.आर.पी.एफ. के महानिदेशक डॉ. ए.पी. माहेश्वरी द्वारा दिल्ली स्थित मुख्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से साझा किया गया। सी.आर.पी.एफ. की देश की सुरक्षा में अद्वितीय योगदान की सराहना करते हुए श्री शाह ने सी.आर.पी.एफ. को देश की आतंरिक सुरक्षा की रीढ़ बताया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री श्री किशन रेड्डी ने प्रशिक्षण के सफल समापन पर प्रशिक्षु अधिकारीयों को बधाई दी और कहा की हम उन 2200 सी.आर.पी.एफ. कर्मियों को श्रद्धांजलि देते हैं जिन्होंने राष्ट्र की सुरक्षा एकता और अखंडता को बनाये रखने के लिए अपने प्राणों की आहुति दी । केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल अकादमी के ऑडिटोरियम में अकादमी के निदेशक व अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री पंकज कुमार ने प्रशिक्षण के दौरान अलग-अलग श्रेणी में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वालों को पुरस्कार भी प्रदान किया। जिसमें चंदौली जिले के बहेरी ग्राम निवासी एवं एन.आई.सी. वाराणसी में पदस्थ श्री ए.बी. सिंह के सुपुत्र और आई.आई.टी. बी.एच.यू. से माइनिंग इंजीनियरिंग में स्नातक अंशुमान सिंह ने “स्वोर्ड आफ ऑनर DAGOs 51 वां बैच ”, “ होम मिनिस्ट्री कप फॉर ऑल राउंड बेस्ट ट्रेनी” सहित कुल 5 पुरस्कार प्राप्त कर काशी क्षेत्र का मान बढ़ाया । डॉ. माहेश्वरी ने कहा कि पासिंग आउट परेड किसी भी वर्दीधारी पुलिस अधिकारी और उसके परिवार के लिए गौरव का क्षण होता है । लेकिन “कोविड-19” संक्रमण और लॉक्ड डाउन के समय में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करते हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल ने ई-पासिंग आउट परेड आयोजित करके आधुनिकता की दिशा में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है । उन्होंने आगे कहा कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को देश के अंदरूनी सुरक्षा को तो ध्यान में रखना ही है साथ ही वर्तमान में “कोरोना वारियर” बनकर “कोविड-19” से भी देश की सुरक्षा करनी है । केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल में शामिल हुए 16 राज्यों के 42 अधिकारियों के परिजनों ने इस परेड को कादरपुर स्थित अकादमी परिसर में आकर देखने की बजाय उनके साथ साझा किए गए वेब लिंक यूट्यूब, फेसबुक आदि के माध्यम से देखा और इस ऐतिहासिक आयोजन की मुक्त कण्ठ से प्रसंशा की ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *