कोरोना वारियर्स स्वास्थ्यकर्मियों का भी 50 लाख का बीमा

सच की दस्तक डेस्क चन्दौली

कोरोना के उपचार में जुटे स्वास्थ्यकर्मी यदि स्वयं कोरोना पॉज़िटिव हो गए हैं और यदि उनके साथ किसी प्रकार की कोई दुर्घटना घट जाती है तो उस परिस्थिति में शासन द्वारा उनके आश्रितों को क्षतिपूर्ति के 50 लाख रुपये दिये जाएंगे। यह सुविधा न केवल चिकित्साकों को मिलेगी बल्कि नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस चालकों समेत अन्य सभी स्वास्थ्यकर्मियों को भी प्रदान की जाएगी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत कोरोना की लड़ाई में जुटे सभी स्वास्थ्यकर्मियों का मनोबल बढ़ाने के लिए इस योजना को लागू किया गया है।
हाल ही में उत्तर प्रदेश चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग की सचिव वी हिकाली झिमोमी ने इस संबंध में संबंधित सभी अधिकारियों को आदेशित पत्र जारी किया है। पत्र में कहा गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत सरकारी अस्पतालों व चिकित्सा संस्थानों में कार्यरत या चिकित्साकर्मी जो कोरोना के रोकथाम व चिकित्सा कार्य से जुड़े हैं, उन्हें विशेष बीमा योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। इस दौरान योजना के मुताबिक यदि कोई स्वास्थ्यकर्मी कोरोना संक्रमित होकर किसी भी दुर्घटना का शिकार होता है तो उसे 50 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति राशि दी जाएगी। बीमा योजना के लाभ के लिए दावा प्रपत्र देना होगा।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आरके मिश्रा ने बताया कि शासन के आदेशों का अनुपालन करते हुए आवश्यक कार्यवाही कराई जाएगी। उन्होने कहा कि कोविड-19 की रोकथाम, उपचार एवं उससे बचाव में जुटे स्वास्थ्य कर्मचारियों में कोरोना के होने की आशंका बनी रहती है जिससे उनमें संक्रमण का खतरा भी हो सकता है। ऐसे में सरकार की इस व्यवस्था से कर्मचारियों का मनोबल जरूर बढ़ेगा। स्वास्थ्य विभाग के प्रत्येक कर्मचारियों को इसके संबंध में निर्देश भी दिए जा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *