उत्तराखंड में आयी प्राकृतिक आपदा से उत्तर प्रदेश को कोई खतरा नहीं अनिल राजभर कैबिनेट मंत्री

सच की दस्तक न्यूज डेस्क चन्दौली
उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा महाराज सुहेलदेव के नाम पर भव्य स्मारक बनाई गई है उनके इतिहास में दिए गए योगदान सम्बंधित तथ्यों को लेकर संग्रहालय के रूप में बहराइच के चित्तौड़ में स्थापित किया जा रहा है ।जिसका 16 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल रूप से शिलान्यास करेंगे। उक्त आशय की जानकारी प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर के जेनक्स प्लाजा में पत्रकारों के साथ वार्ता करते हुए बताया।
श्री राजभर ने बताया कि महाराज सुहेलदेव भारत के गौरव रहे हैं उन्होंने लगभग 1000 वर्ष पहले जब सैयद सलार गाजी जो अयोध्या पर आक्रमण करने जा रहा था और हिंदू धर्म पर अपनी छाप छोड़ने का प्रयास कर रहा था । महाराजा सुहेलदेव ने उस समय उसका डटकर मुकाबला किया और उसे पराजित कर भगवान श्री राम की जन्म भूमि अयोध्या की और हिंदू धर्म की रक्षा की । उसके बाद165 वर्षों तक कोई आक्रमणकारी भारत पर आक्रमण करने की जुर्रत नहीं कर सका क्योंकि दुश्मनों को इस करारी हार से एक नया संदेश दे दिया गया था।
कैबिनेट मंत्री श्री राजभर ने यह भी बताया कि पिछले वर्ष प्रधानमंत्री द्वारा महाराज सुहेलदेव डाक टिकट भी 2019 में जारी किया गया है।
एक सवाल के प्रतिउत्तर में कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि जो लोग महाराजा सुहेलदेव के नाम पर राजनीति करते हैं। वर्तमान समय में उनकी पोल खुल गई है। इस समय इन पर राजनीति करने वाले उन लोगों से दोस्ती कर रहे हैं जो सैयद सलार गाजी के वंशज कहे जाते हैं।
ऐसे में जग जाहिर हो चुका है और उत्तर प्रदेश की जनता यह बात जान चुकी है।

एक प्रश्न के प्रतिउत्तर में उन्होंने कहा कि राजभर बिरादरी के लोगों ने लोकसभा चुनाव में ही ओमप्रकाश राजभर को जवाब दे दिया था ।एक समय वे कहते थे कि लोकसभा चुनाव में भाजपा एक भी सीट जीत नहीं पाएगी। जनता ने उन्हें जवाब दे दिया और एक सब्जी व्यवसायी राजभर को जिता कर उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया । वर्तमान समय में ओवैसी से वे गठबंधन करने जा रहे हैं जो सैयद सलार गाजी की वंशज कहे जाते हैं। जिन्होंने सुहेलदेव पर आक्रमण किया था और उन्हें मार देना चाहते थे ।वे उनकी मजार पर जाना पसंद कर रहे है।बहुजन समाजवादी पार्टी भी इस आक्रमणकारियों के मजार पर जाने वालो में है।ऐसे में जनता सब जानती है । कौन महाराजा सुहेलदेव के साथ है कौन इनके नाम पर राजनीति कर रहा है।
उत्तराखंड में आई प्राकृतिक आपदा के संबंधित सवाल के प्रत्युत्तर में श्री राजभर ने कहा कि इस आपदा का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ने वाला है ।यदि दूसरी बार ग्लेशियर टूटता है तो विपरीत परिस्थिति में पानी के बहाव को रोकने के लिए प्रदेश के बिजनौर में पर्याप्त इंतजाम है इसके अलावा बुलंदशहर में नरौरा बांध के जरिये अनियंत्रित जल प्रवाह को रोक सकते है।
उत्तराखंड की प्राकृतिक आपदा में लखीमपुर खीरी और हमीरपुर के कुछ लोग फंसे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तराखंड सरकार से इस प्राकृतिक आपदा में घायल हुए व मृत लोगों की सूची मांगी है। हमारी सरकार उनकी पूरी सहायता करेगी। वार्ता के दौरान भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह मौजूद थे।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x