क्षत्रिय कुमावत समाज ने किया 11 जोड़ों का सामूहिक विवाह और वेट लिफ्टर आशा कुमावत का सम्मान।

सच की दस्तक न्यूज़ डेस्क राजस्थान
*देवेन्द्र कुमावत ब्यूरो प्रभारी की रिपोर्ट*
जयपुर जिले के बगरू में कुमावत समाज के भामाशाहों द्वारा 10 अप्रैल को रामनवमी के पर्व पर सामूहिक विवाह सम्मेलन के तहत 10वां सम्मेलन किया गया जिसमें 11 जोड़ों का विवाह संपन्न कराया गया।समाज द्वारा इन जोड़ों को घर गृहस्थी का सारा सामान और सोने चांदी के गहने भी दिए गए।बहुत से गणमान्य व्यक्तियों के और समिति के पदाधिकारियों के आशीर्वाद से हर वर्ष यह सम्मेलन जगह जगह किया जाता है।विधायक निर्मल कुमावत,गंगा देवी,कैलाश कुमावत और भी कई अतिविशिष्ट जनों का आशीर्वाद दूल्हा दुल्हन को मिला।
साथ ही समिति के द्वारा वेट लिफ्टर *आशा कुमावत* का भी पगड़ी और शाल पहनाकर सम्मान किया गया।समाज की बेटी *आशा कुमावत* द्वारा अब तक 16 स्वर्ण पदक 3 सिल्वर पदक और एक ताम्र पदक भारत की झोली में डाले हैं।वेट लिफ्टर आशा कुमावत बताती है कि बचपन से ही इनके पिता कन्हैया लाल ने इनको आगे बढ़ने के लिये प्रोत्साहित किया और विवाह के बाद इनके पति गिरिराज कुमावत ने भी इनका कदम कदम पर आगे बढ़ने में साथ दिया।अभी अभी आशा कुमावत नेशनल खेलकर वेट लिफ्टिंग में सिल्वर पदक हासिल कर चुकी है।समिति अध्यक्ष ने कहा कि समाज की ऐसी बेटी पर हम सबको गर्व है।

Sach ki Dastak

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x