सूरत में फॅसे यूपी के 68 मजदूरो को वापस लाया जाए

सच की दस्तक सोनभद्र

उत्तर प्रदेश के 68 प्रवासी मजदूर के सूरत में फॅसे होने की सूचना मिली है जिसमे बलिया के 20 , देवरिया के 12 और सोनभद्र के 10 मजदूरों के साथ साथ आजमगढ़ के 5 , अम्बेडकर नगर के 4 मिर्जापुर के 3 सहित अन्य जिलों के दो,दो ,एक एक मजदूर फॅसे हुए हैं जो न्यूक्लियर पावर कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड कंपनी काकरापार तापी जनपद सूरत गुजरात में काम करते हैं।
एक मजदूर राकेश कुमार गुप्ता ने भाजपा नेता डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि को फ़ोन पर बताया कि हमलोग कंपनी के ही कमरे में एक जगह पर रह रहे है और कंपनी वाला दबाव डाल रहा है कि काम करो ।हमलोग जहाँ रह रहे है वहाँ से10 -15 किलोमीटर की दूरी पर 5 मरीज कोरोना पॉजिटिव मिले हैं और वहाँ से भी लोग काम करने के लिए यहाँ आते है हमलोगो को डर है कि यदि हमलोग काम करने जाए और किसी के सम्पर्क में आ गए तो पता नहीं क्या होगा?इसलिए हमलोग घर यूपी आना चाहते है ।हमलोग काम नहीं करना चाहते है क्योंकि वहाँ पर भी पॉजिटिव मरीजो की संख्या बढ़ रही है। डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि ने गुजरात में फॅसे मजदूरों को यूपी लाये जाने वाले मजदूरों के लिए बनाए गए नोडल अधिकारी प्रमुख सचिव दीपक कुमार और डी. के.ठाकुर जी का नम्बर पर बात करने के लिए कहा और बताया कि पूरी वस्तुस्थिति से अवगत कराओ ताकि तुमलोगों की स्थिति को समझ कर शीघ्र लाया जा सके ।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x