उमंग के प्रांगण में कला मंज़र की नृत्याभिव्यक्ति

राजस्थान न्यूज़ डेस्क से देवेन्द्र कुमावत की रिपोर्ट

अंतरराष्ट्रीय नृत्य दिवस के उपलक्ष में कला मंज़र संस्था द्वारा उमंग स्कूल में मानसिक रूप से विशेष योग्य बच्चों के साथ ” नृत्य – तरंग ” कार्यक्रम शुक्रवार कोआयोजित किया गया जिसमें सामान्य श्रेणी के प्रतिभाशाली बच्चों के साथ साथ विपरीत परिस्थितियों में जीवन यापित करने वाले प्रतिभाशाली बच्चों व लोक कलाकारों ने भी विशेषयोग्य बच्चों के साथ मंच साझा किया जिसका उद्देश्य विशेषयोग्य बच्चों को आम धारा से जोड़ना है। आयोजन की अध्यक्षता नृत्य गुरु उषा श्री ने की तथा वरिष्ठ IAS अधिकारी नवीन जैन ने मुख्य अतिथि व वरिष्ठ कथक गुरु प्रेरणा श्रीमाली ने विशिष्ट अतिथि के रूप में आयोजन की शोभा बढ़ाई। कार्यक्रम की शुरूआत दीपप्रज्वलन के साथ हुई। पूनम माथुर ने सरस्वती वंदना गाई उसके बाद विशेषयोग्य बच्चों ने दिल को छू लेने वाला नृत्य प्रस्तुत किया साथ ही अन्य बच्चों ने भी राजस्थानी लोकगीतों पर बहुत ही सुंदर नृत्य प्रस्तुतियां दीं। बच्चों का मनोबल बढ़ाने हेतु वरिष्ठ कथक गुरु डॉ गीता रघुवीर व अंतरराष्ट्रीय कालबेलिया नृत्यांगना चिरमी सपेरा ने भी विशेष नृत्य प्रस्तुत किया।
संस्था की अध्यक्ष शोभा सक्सेना ने सब का स्वागत करते हुए संस्था के उद्देश्यों के बारे में बताया व फाउंडर मीनाक्षी माथुर ने धन्यवाद ज्ञापन देते हुए संस्था के भावी कार्यक्रमों की जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन आर जे रविंन ने किया।
स्कूल की डायरेक्टर दीपक कालरा व समाजसेवी अरुण शर्मा , वरिष्ठ रंगकर्मी रुचि भार्गवा , समाजसेविका पूजा उपाध्याय , वरिष्ठ रंगकर्मी सरस्वती उपाध्याय सहित अनेक गणमान्यजन भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x