क्रिसमस के मौके पर सम्मानित हुए सौहार्दशिरोमणि गुरुदेव श्री सौरभ पांडेय जी

कुशीनगर।

क्रिसमसपर्व  पर गौरखपुर उत्तर प्रदेश में धराधाम इंटरनेशनल की महान विचारों की गंगोत्री से पवित्र सौहार्दतीर्थ के प्रणेता सौहार्दशिरोमणि महामनीषी परम आदरणीय गुरुदेव सौरभ पांडेय जी ने कुशीनगर चर्च में जाकर सम्पपूर्ण विश्व की शांति और कल्याणहेतु प्रार्थना की बता दें कि कुशीनगर भारत के उत्तर प्रदेश में एक प्रसिद्ध बौद्ध तीर्थ स्थल है जहां  के  कार्यक्रम में  चीफ गेस्ट आंमत्रित हो, सौहार्दशिरोमणि श्री श्री गुरूदेव सौरभ पांडेय जी ने पूरे विश्व में सर्वधर्म  समभाव का संदेश देते हुये कहा कि यीशु मसीह ने कहा था कि पापी को पाप करने दो पर तुम व्यभिचारी मत बनना ।

सर्वशक्तिमान का सूर्य सभी पर समान प्रकाश  बिखेर रहा है तुम अपने कर्म  पापमुक्त रखना। जीसस ने हमेशा सम्पूर्ण विश्व के लिए प्रार्थना का मंत्र दिया। पर देखों दुष्ट प्रकृति लोगों ने उन्हें सूली पर चढ़ा दिया फिर भी जीसस कहते रहे कि हे! परमपिता तुम इन्हें क्षमा कर देना। 

  जब सच्चाई सम्मानित होती है तो प्रकृति और नियति आखों में नमी बन कर महक उठती है। कुछ ऐसा ही हुआ जब सौहार्दशिरोमणि महामनीषी परम आदरणीय गुरुदेव सौरभ पांडेय जी का अनेकों विद्वानों समाजिक कार्यकर्ताओं ने जब माल्यार्पण किया। यह दृश्य आलोकिक था क्योंकि मौका क्रिसमस का था और गुरूदेव श्री श्री सौरभ पांडेय जी ने कहा कि मानवता ही प्रथम धर्म हैं और आपसी प्रेम ही इंसान का मूल गुण। 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x