देशद्रोह : शेहला राशिद के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के वकील ने दर्ज कराई शिकायत-

कश्मीरी लीडर शेहला राशिद ने नरेन्द्र मोदी सरकार से पहले भी कहा था कि जितने भी कश्मीरी नेताओं को अरेस्ट किया है, उनको जल्द से जल्द ही रिहा किया जाए। आर्टिकल 370 के विरोध में शेहला राशिद बुधवार (7 अगस्त) को दिल्ली के मंडी हाउस से लेकर जंतर-मंतर तक विरोध मार्च किया था।

. शेहला राशिद लगातार केंद सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले का विरोध कर रही हैं।

. इंडियन आर्मी ने शेहला राशिद के आरोपों को खारिज करते हुये कहा है कि यह आरोप आधारहीन हैं।

 

जम्मू ऐंड कश्मीर पीपल्स मूवमेंट (JKPM) की नेता शेहला राशिद के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने आपराधिक शिकायत दर्ज की है।

 

 

सुप्रीम कोर्ट के वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने शेहला राशिद पर भारतीय सेना पर गलत इल्जाम लगाने और जम्मू-कश्मीर में गलत खबरें फैलाने के लिए शिकायतें दर्ज करवाई हैं। अपने शिकायत पत्र में वकीले ने यह भी लिखा है कि शेहला ना सिर्फ भारतीय सेना पर गलत आरोप लगाये हैं बल्कि भारत सरकार के खिलाफ फर्जी खबर भी फैला रही हैं।

देशभक्त अधिवक्ता आलोक श्रीवास्तव पर है गर्व हाँ यह वही महान अधिवक्ता हैं जोकि POCSO एक्ट के सूत्रधार आलोक श्रीवास्तव हैं इन्हीं महान वकील की जनहित याचिका के बाद केंद्र सरकार जागी थी। जिसमें उन्होंने बच्चियों के बलात्कारियों को मौत की सजा देने की वकालत की थी।

 

वकील ने शेहला के जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। शेहला राशिद लगातार केंद सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले का विरोध कर रही हैं।

 

शेहला राशिद ने भारतीय सेना (Indian Army) पर लगाये हैं ये आरोप ?

शेहला राशिद ने कई ट्वीट कर आरोप लगाया था कि भारतीय सेना कश्मीरियों को बेवजह प्रताड़ित कर रही है। युवा लड़कों को पूछताछ के लिए उठाया जा रहा है और उन्हें जमकर टॉर्चर किया जा रहा है। शेहला के दो ट्वीट जो बहुत वायरल हो रहे हैं, उसमें उन्होंने लिखा है- ‘आर्मी के जवान लोगों के घरों में रात को जबरन घुस रहे हैं। लड़कों को उठा रहे हैं। घर के राशन को जमीन पर बिखेर रहे हैं। चावल में तेल मिला रहे हैं।’

 

 

दूसरे ट्वीट में लिखा है- शोपिया के चार लोगों को पूछताछ के लिए आर्मी कैंप में बुलाया जाता है और पूछताछ के नाम टॉर्चर किया जाता है। देश की सेना ऐसा करके कश्मीर के लोगों में भय फैला रही है।

 

शेहला राशिद के आरोपों को भारतीय सेना (Indian Army) ने किया खारिज – 

इंडियन आर्मी ने शेहला राशिद के आरोपों को खारिज करते हुये कहा है कि यह आरोप आधारहीन हैं। हम इन्हें खारिज करते हैं। गलत इरादे वाले लोग और संगठन जनता को भड़काने के इरादे से इस तरह की फर्जी खबरें फैलातें हैं। शेहला ने कई ट्वीट कर आरोप लगाया था कि भारतीय सेना द्वारा कश्मीरियों को प्रताड़ित किया जा रहा है।

शेहला रसीद जेएनयू की पूर्व छात्रा रहीं हैं.. वैसे (JNU) जेएनयू का नाम बहुत पहले से ही काफी चर्चा में रहा है, क्यूंकि यही वो जगह है जहां 2016 फरवरी में (JNU) जेएनयू कैंपस में ‘अफजल हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं’ जैसे ‘राष्ट्र विरोधी’ नारे लगे थे और इस मामले में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की गई थी।

इसमें पूर्व जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) के अध्यक्ष कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य और अन्य लोगों के खिलाफ देशद्रोह, दंगा करने और आपराधिक साजिश के आरोप लगे थे। इस मामले में 3 साल पहले कन्हैया, उमर और अनिर्बान को गिरफ्तार किया गया था बाद में वो जमानत पर बाहर आए थे।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x