हावड़ा नगर निगम द्वारा गठित संचालन समिति पर प्रश्न-

हावड़ा –

 भारतीय जनता पार्टी हावडा सदर द्वारा छह सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल हावडा नगर निगम कार्यालय पहुँचा जहां पहले से तय ज्ञापन के कार्यक्रम में निगम आयुक्त से मिला। प्रदेश भाजपा नेता उमेश राय, ज़िला के महामंत्री बिनय अग्रवाल, नबो कुमार दे, सचिव अजय मन्ना एवं पूर्व पार्षद अनिता सिंह और गीता राय ने ज्ञापन के माध्यम से आयुक्त को हावड़ा की जनता को रोजमर्रा होने वाली समस्याओं से अवगत करवाते हुए तत्काल निगम चुनाव की मांग की।

साथ ही निगम द्वारा गठित संचालन समिति पर प्रश्न उठाते हुए कहा कि समिति में सत्ताधारी दल के तीन मंत्रियों के साथ पूर्व मेयर और एक संवादाता को क्यों रखा गया है? जबकि मंत्री राजीव बनर्जी का विधान सभा क्षेत्र नगर निगम के दायरे से बाहर है। आखिर पूर्व मेयर डॉ• रथिन चक्रवर्ती को किस हैसियत से समिति में रखा गया। आखिरकार एक पत्रकार का निगम कमिटी में क्या काम?

भाजपा नेता उमेश राय ने कमिटी के गठन पर प्रश्न उठाते हुए इसे सत्ताधारी पार्टी का कमिटी करार दिया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जनता के लिए किए जाने वाले कार्यों के लिए लोकतांत्रिक तरीके अपनाए जाते है। कमिटी बनाने के लिए सर्वदलीय बैठक बुला कर सबकी भागीदारी होनी चाहिए। 

ज्ञापन लेते समय हावडा नगर निगम के आयुक्त बिजेन कृष्णन ने कहा कि चुनाव कब होगा यह राज्य सरकार तय करेगी, संचालन कमिटी भी राज्य सरकार ने बनाया था और उसमें फेरबदल भी राज्य सरकार के द्वारा किया गया है। इस पूरे प्रक्रिया में मेरी कोई भूमिका नही है।

भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने राज्य सरकार पर हावड़ा में नागरिक परिसेवा के नाम पर राजनीतिक भेदभाव का आरोप लगाया और कहा कि एक निगम के आयुक्त जो आईएएस अधिकारी है उनका ऐसा बयान इस बात को दर्शाता हैं कि निगम पर तृणमूल का कितना दबाव है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x