केरल में विद्यारंभम समारोह का आयोजन आज, हजारों बच्चों ने की पठन-पाठन की शुरुआत-

तिरुवनंतपुरम, एएनआइ।

केरल में मंगलवार को विजयदशमी के दौरान सैकड़ों बच्चों ने ‘विद्यारंभम’ समारोह में हिस्सा लिया। यह समारोह दो से पांच साल के बच्चों के लिए आयोजित किया जाता है जिसमें वे पढ़ना शुरू करते हैं।

आज तिरवनंतपुरम के अट्टुकल में स्थित थुनचन स्मारकम में बड़ी संख्या में बच्चे अपने माता-पिता के साथ समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे हैं। विद्यारंभम केरल का एक पारंपरिक त्योहार है जिसमें शामिल होकर बच्चे अपनी पढ़ने और लिखने की शुरूआत करते हैं।

विद्यारंभम विद्या और आरंभ दो शब्दों से मिलकर बना है यह रस्म नवरात्र के अंतिम दिन यानी विजयदशमी के दिन आयोजित की जाती है।

इस दिन हजारों लोग अपने बच्चों की शिक्षा की शुरुआत के लिए मंदिर, मस्जिद और चर्च में पहुंचते हैं। परंपरा के अनुसार शिखक, लेखक, विद्वान और पुजारी छोटे बच्चों को इस दिन पहला अक्षर लिखना सिखाते हैं। वे बच्चों रो स्लेट पर हरि श्री या फिर सोने की अंगुठी से उनकी जीभ पर यह शब्द लिखते हैं। पहले यह शब्द चावल या रेत पर लिखा जाता है और उसके बाद सोने से बनी बारीक चीज से यह शब्द बच्चे की जीभ पर लिखा जाता है।

यह रस्म पूरी होने के बाद बच्चों में किताबें, स्लेट और अन्य सामग्री बांटी जाती हैं। इस दिन अलग अलग जगहों पर मंदिरों के बाहर लोग अपने बच्चों को लेकर लाइन में लग जाते हैं। बता दें कि आंध्र प्रदेश में भी यह परंपरा होती है लेकिन यहां इस रस्म को अक्षराभ्यासम के नाम से जाना जाता है।

गौरतलब है कि आज शारदीय नवरात्रि के समापन के साथ विजयदशमी का त्योहार मनाया जा रहा है। इस त्योहार को लेकर कई दिनों पहले से ही देश में तैयारियां शुरू हो जाती हैं। कई जगहों पर मेले और रावण दहन का आयोजन किया जाता है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x