मर्डर कांड : अपूर्वा-रोहित ने एक-दूसरे का गला दबाया था, चली गई जान-

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी (40) हत्याकांड से जल्द ही पर्दा उठने वाला है।

रविवार को रोहित की मां उज्जवला के खुलासे से पत्नी अपूर्वा की मुश्किलें बढ़ गईं। 

 

जांच में मिले सुबूतों के आधार पर क्राइम ब्रांच के शक के दायरे में रोहित की पत्नी अपूर्वा आ रहीं हैं। सूत्रों के मुताबिक, तीन दिन तक हुई पूछताछ के बाद अपूर्वा ने स्वीकार किया कि सोमवार रात 11 बजे रोहित से झगड़ा हुआ था। दोनों ने एक-दूसरे का गला दबाया था। इसमें हो सकता है कि जोर से गला दब गया हो और सोने के दौरान रोहित की मौत हो गई हो।

हालांकि, क्राइम ब्रांच अपूर्वा की इस बात पर यकीन नहीं कर रही है।आशंका है कि अपूर्वा ने हत्या की धाराओं से बचने के लिए यह कहानी बताई हो, ताकि मामला गैरइरादतन हत्या का बन जाए। अपूर्वा खुद भी सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता हैं। इसलिए क्राइम ब्रांच सुबूतों की कड़ी को जोड़ लेना चाहती है। पर्याप्त सुबूत मिलते ही गिरफ्तारी होगी।

सूत्रों के मुताबिक, मोबाइल कॉल डिटेल्स रिकार्ड से पता चला है कि अपूर्वा ने मंगलवार सुबह 11 बजे अपने मोबाइल फोन से दिल्ली से बाहर रहने वाले एक व्यक्ति को फोन किया था। पुलिस को शक है कि यह फोन अपूर्वा ने किसी जानकार से सुझाव लेने के लिए किया। 

वहीं, दिल्ली पुलिस के सूत्रों की मानें तो कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी (40) हत्याकांड से जल्द ही पर्दा उठने वाला है। अब तक की जांच में मिले सुबूतों के आधार पर क्राइम ब्रांच के शक के दायरे में रोहित की पत्‍‌नी अपूर्वा आ रहीं हैं। मामला हाई प्रोफाइल होने के साथ ही अपूर्वा खुद भी सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता हैं। ऐसे में क्राइम ब्रांच किसी भी जल्दबाजी से बचते हुए, सबूतों की हर कड़ी को जोड़ लेना चाहती है। क्राइम ब्रांच पर्याप्त सुबूत एकत्र होते ही इस मामले में गिरफ्तारी करेगी।

क्राइम ब्रांच के एडिशनल पुलिस कमिश्नर राजीव रंजन ने सोमवार को मीडिया को दिए बयान में संकेत दिया कि हत्याकांड की तफ्तीश पूरी होने वाली है। जल्द ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से वोट डालने के बाद 15 अप्रैल की रात 10 बजे रोहित शेखर तिवारी डिफेंस कॉलोनी स्थित अपने घर सी-329 लौटे थे। कार में उनके साथ रोहित की मां उज्ज्वला शर्मा, सौतेले भाई सिद्धार्थ के ममेरे भाई राजीव और राजीव की पत्नी कुमकुम भी थीं। खाना खाने के बाद रात 11 बजे उज्ज्वला, राजीव और कुमकुम तिलक लेन स्थित घर चले गए थे। इसके बाद रोहित पहली मंजिल पर स्थित अपने कमरे में जाकर सो गए।

बराबर वाले कमरे में उनकी पत्नी अपूर्वा भी सो गई थीं। इसके बाद रात 1:30 बजे अपूर्वा भूतल से पहली मंजिल पर स्थित रोहित के कमरे में जाते हुए सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दी हैं। ठीक एक घंटे बाद रात 2.30 बजे वह पहली मंजिल से भूतल पर आते दिख रही हैं।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रोहित की मौत का समय भी सोमवार की रात 1.30 से 2 बजे के बीच बताया गया है। ऐसे में क्राइम ब्रांच के शक की सुई अपूर्वा पर आकर ठहर गई है और उन्हें मुख्य संदिग्ध माना जा रहा है। क्राइम ब्रांच अब यह भी जानने की कोशिश कर रही है कि वारदात को अंजाम एक व्यक्ति ने दिया या और लोग भी शामिल हैं। इसके लिए अपूर्वा, रोहित की मसाज करने वाले भोलू व चालक अभिषेक के बयान को देखा जा रहा है। घटना वाली रात बाहर से किसी के अंदर प्रवेश करने के फुटेज नहीं मिले हैं।

मंगलवार 11 बजे अपूर्वा ने दिल्ली से बाहर किया फोन क्राइम ब्रांच से जुड़े सूत्रों के मुताबिक मोबाइल कॉल डिटेल रिकार्ड से पता चला है कि अपूर्वा ने मंगलवार की सुबह 11 बजे अपने मोबाइल से दिल्ली से बाहर रहने वाले एक व्यक्ति को फोन किया था। पुलिस को शक है कि यह फोन अपूर्वा ने किसी जानकार से सुझाव लेने के लिए किया।

 झगड़ा बना बड़ी वजह-


पुलिस सूत्रों के मुताबिक तीन दिन तक हुई पूछताछ के बाद अपूर्वा टूट गई और स्वीकार किया कि सोमवार की रात 11 बजे रोहित से उनका झगड़ा हुआ था। झगड़े के दौरान दोनों ने एक दूसरे का गला दबाया था। इसमें हो सकता है कि जोर से गला दब गया हो और सोने के दौरान रोहित की मौत हो गई हो। 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x