धूमधाम से मनाया गया मां भद्रकाली मंदिर का स्थापना दिवस

एक विचित्र पहल सेवा समिति रजि. औरैया द्वारा अक्षय तृतीया के पावन अवसर पर पढीन दरवाजा स्थित बड़ी माता मंदिर प्रांगण में मां भद्रकाली मंदिर का स्थापना दिवस धार्मिक आयोजन के रूप में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया, कार्यक्रम का संयोजक मनीष पुरवार (हीरु) के नेतृत्व आचार्य पंडित‍ बैकुंठ नाथ त्रिपाठी द्वारा वैदिक मंत्रोचार के साथ मां भद्रकाली की मूर्ति की पूजा-अर्चना व मंदिर पर हवन व प्रसाद, फल आदि वितरण कर संपन्न कराया गया।

आयोजन के अंतर्गत समिति के संस्थापक आनन्द नाथ गुप्ता एडवोकेट ने बताया कि अक्षय तृतीया वैशाख शुक्ल पक्ष तृतीया को मनाई जाती है, आज का दिन अपने आप में स्वयं सिद्ध मुहूर्त है, आज से कोई भी शुभ कार्य प्रारंभ किया जा सकता है, प्राचीन मान्यता के अनुसार आज के दिन ही पतित पावनी मां गंगा का धरती पर अवतरण हुआ था, जबकि महर्षि भगवान परशुराम व माँ अन्नपूर्णा आज के दिन ही धराधाम पर आए थे।

धार्मिक मान्यता के अनुसार आज के दिन किया गया दान अक्षय पुण्य के रूप में संचित होकर कई गुना होकर प्राप्त होता है अक्षय तृतीया समस्त प्राणियों के लिए सौभाग्य व सुख समृद्धि लेकर आती है, अक्षय तृतीया के दिन देवी लक्ष्मी, भगवान विष्णु, भगवान श्री कृष्ण व श्री गणेश भगवान की विधि-विधान से पूजा-अर्चना करने पर परिवार में निरोगी काया, सुख-शांति, धनधान्य व पुण्य फल के साथ सर्व मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

धार्मिक आयोजन में प्रमुख रूप से बड़ी माता मंदिर कमेटी के अध्यक्ष बल्लू गुप्ता, मिथिलेश शुक्ला, संजय अग्रवाल, सुशील शुक्ला, सभासद छैया त्रिपाठी, ऋषभ पोरवाल, राकेश गुप्ता बैंक वाले, रानू पोरवाल, आदित्य पोरवाल, अखिलेश पोरवाल, मोहित अग्रवाल(लकी), अर्पित दुबे एडवोकेट, सौरभ पोरवाल, मनोज पुरवार, महिला शाखा तुलसी की प्रभारी बबिता गुप्ता, संरक्षक मीरा गुप्ता, कोषाध्यक्ष क्षमा सोनी, एकता पुरवार, वर्षा अग्रवाल, कुसुम बिश्नोई, लक्ष्मी वर्मा, सुमन पोरवाल आदि एक सैकड़ा श्रद्धालु मौजूद रहे।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x