43वां कोलकाता अंतर्राष्ट्रीय पुस्तक मेला-


    कोलकाता :

सच की दस्तक न्यूज – 


 जोश व उत्साह के साथ वृहस्पतिवार से कोलकाता अंतर्रष्ट्रीय पुस्तक मेला-2019 शुरू हो जाएगा। सेंट्रल पार्क ग्राउंड में आयोजित इस मेले का मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उद्घाटन करेंगी।

    .       पुस्तक मेले में इस साल लगभग छह सौ स्टॉल और दो सौ लघु पत्रिका के स्टॉल लगेंगे। स्टॉल बनाने का काम अंतिम चरण में है।
राज्य सहित देश-विदेश से आने वाले सभी प्रतिनिधि इसमें शामिल होंगे। पब्लिशर्स एंड बुक सेलर्स गिल्ड के सचिव त्रिदीब चटर्जी ने सेंट्रल पार्क मेला प्रांगण में यह बातें कहीं।
             त्रिदीब ने बताया कि पुस्तक मेले में हर साल एक भारतीय अनुसूचित जनजाति के साहित्य और संस्कृति को विशेष प्रधानता दी जाती है।
इस वर्ष लेप्चा जनजाति को विशेष प्राधान्य मिला है। 43वें कोलकाता अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में ग्वाटेमाला थीम देश है। उद्घाटन समारोह का आयोजन ग्वाटेमाला प्रो यूडा मोरालेस के राजदूत की उपस्थिति में किया जाएगा।

         पुस्तक मेला का उद्घाटन 31 जनवरी 2019 को शाम चार बजे होगा। इसके बाद एक फरवरी को ग्वाटेमाला दिवस कार्यक्रम, दो फरवरी को लेप्चा दिवस, सात-आठ-नौ फरवरी को कोलकाता साहित्य महोत्सव, दस फरवरी को बांग्लादेश दिवस, 11 फरवरी को समापन दिवस मनाया जाएगा।

पुस्तक मेला प्रांगण में प्रवेश के लिए नौ द्वार बनाए गए हैं। आगंतुकों के आवागमन के लिए नौ प्रवेश और निकास द्वार होंगे।

इसके साथ ही राज्य सरकार की ओर से हावड़ा रेलवे स्टेशन, सियालदह रेलवे स्टेशन, उल्टाडांगा, गरिया, बेहला और श्यामबाजार से अतिरिक्त 190 शटल बस सेवा शुरू की जाएगी।

मुख्य रूप से अंग्रेजी प्रकाशनों को प्रदर्शित करने वाले तीन हॉलों का नाम निरेंद्रनाथ चक्रवर्ती, दिब्येंदु पालित और अतिन बंद्योपाध्याय के नाम पर रखा गया है। छोटी पत्रिका मंडप का नाम पिनाकी ठाकुर के नाम पर रखा गया है।

पुस्तक मेला के लिए एंडरॉयड एंड आईओएस मोबाईल एप जल्द ही लॉन्च किए जाएंगे।

मेले में पूरी दुनिया से भाग लेने वाले 20 देशों में रूस, कोस्टारिका, स्पेन, स्कॉटलैंड, आस्ट्रेलिया, ग्वाटेमाला, अर्जेंटीना और बांग्लादेश के लेखक, भारतीय समकक्षों के साथ, अलग-अलग परिचर्चा व विशेष सत्र में अपना व्याख्यान रखेंगे।

मेले में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष पर विशेष गांधी स्टाल लगाया जाएगा। इस स्टॉल में गांधीजी के मूल पत्रों की फोटोकॉपी, राष्ट्रीय नेताओं द्वारा लिखे गए वक्तव्य, गांधी पर कुछ दुर्लभ पुस्तकें जैसे यंग इंडिया, हरिजन और गांधी स्मारक संगठन, बैरकपुर के कई प्रकाशनों का प्रदर्शन होगा।

पुस्तक मेले में हर दिन एक दैनिक लॉटरी ड्रॉ सीईएससी की ओर से आयोजित की जाएगी। भाग्यशाली विजेताओं को दस हजार रुपए की किताबें उपहार में दी जाएगी।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x