गुजरात में रामनवमी शोभायात्रा पर हमला, मुस्लिम भीड़ पर आरोप: गाड़ियाँ जलाई गईं, कई पुलिसकर्मी घायल, पत्थर-डंडों से बोला धावा

 

हिम्मतनगर में टीयरसेल के 20 सेल छोड़े, पांच वाहन जलाए, एसपी, रेंजआईजी सहित भारी पुलिस बल की तैनाती, परिस्थिति काबू में
-खंभात के टावर बाजार क्षेत्र में भी पथराव के बाद 3 दुकानों में लगाई आग

हिम्मतनगर/आणंद. गुजरात में रामनवमी के मौके पर साबरकांठा जिला मुख्यालय हिम्मतनगर और आणंद जिले के खंभात शहर में निकाली गई शोभायात्रा पर पथराव की घटना सामने आई है। इसके बाद हालात बिगड़ गए। हिम्मतनगर में कुछ वाहनों में तोडफ़ोड़ की और 5 वाहनों में आग लगा दी। खंभात में भी तीन दुकानों को आग के हवाले कर दिया। बेकाबू हुई भीड़ को काबू में करने के लिए हिम्मतनगर पुलिस ने आंसू गैस के 20 सेल छोड़े हैं। भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। फिलहाल दोनों ही शहरों में परिस्थिति काबू में बताई जा रही है।

हिम्मतनगर में रविवार को रामनवमी के चलते छापरिया इलाके में स्थित राम मंदिर से हर साल की तरह इस साल भी शोभायात्रा निकाली गई। भरी दोपहरी यहां से निकाली जा रही शोभायात्रा पर कुछ असामाजिक तत्वों ने पथराव कर दिया। जिस पर लोग आमने सामने आ गए। बेकाबू हुई भीड़ ने छापरिया व पास के इलाकों में पांच वाहनों में आग लगा दी। सूचना मिलते ही जिला पुलिस अधीक्षक, अरवल्ली और बनासकांठा जिले की पुलिस भी मौके पर पहुंची। रेंज आईजी अभय चुड़ास्मा भी मौके पर पहुंचे।
भीड़ पर काबू करने की कोशिश की तो भीड़ ने पुलिस पर भी पथराव शुरू कर दिया। इसमें पांच पुलिसकर्मी चोटिल हुए हैं। कई पुलिस वाहनों में तोडफ़ोड़ हुई है। पुलिस ने परिस्थिति पर काबू पाने के लिए टीयरसेल के 20 सेल छोड़े हैं।

साबरकांठा जिले के पुलिस अधीक्षक विशाल वाघेला ने बताया कि परिस्थिति फिलहाल नियंत्रण में है। सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। पथराव में पांच पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं। पेट्रोलिंग जारी है।

उधर आणंद जिले के खंभात में भी रविवार को रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान कुछ उपद्रवी तत्वों ने पथराव किया। इसके बाद देखते ही देखते लोग आमने-सामने होकर पथराव करने लगे। माहौल बहुत ज्यादा बिगड़ता इससे पहले खंभात शहर पुलिस और ग्रामीण पुलिस समेत अन्य कई थानों के पुलिस कर्मी मौके पर पहुंच गए। भारी संख्या में पुलिस की तैनाती से माहौल नियंत्रण में कर लिया गया। हालांकि पथराव से गुस्साए लोगों ने टावर बाजार में तीन दुकानों में आग लगा दी। इसके बाद दमकल की गाडिय़ां भी मौके पर पहुंच गई और आग पर काबू पा लिया गया।

गुजरात के हिम्मतनगर (साबरकांठा) जिले में रामनवमी की शोभायात्रा पर हमले की खबर है। बताया जा रहा है कि हमले के दौरान वाहनों को भी निशाना बनाया गया है। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मियों सहित कई लोगों के घायल होने का समाचार है। घटना 10 अप्रैल, 2022 (रविवार) की है। इस हमले के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।

पुलिस ने उपद्रवियों को गिरफ्तार करने के कोम्बिंग शुरू की है।
रामनवमी शोभायात्रा पर हिम्मतनगर और खंभात में पथराव, पुलिस पर भी हमला, आगजनी

रामनवमी शोभायात्रा पर हिम्मतनगर और खंभात में पथराव, पुलिस पर भी हमला, आगजनी
Krishna Rathod
@Krishna07VHP

Apr 10, 2022

कट्टरपंथी जिहादियों द्वारा #हिम्मतनगर शहर में Ahp की शोभायात्रा में भारी पथराव किया और राम जी के रथ को ध्वस्त किया। इस्लामिक कट्टरपंथियों ने सुनियोजित तरीके से दंगा किया, कई पुलिसवाले और कार्यकर्ता जख्मी। #रामनवमी @Bajrangdal_Gujra
Nikhil Choudhary
@NikhilCh_
#Gujarat: Stone-pelted on peaceful religious procession on #Ramanavami in #Himatnagar area of #Sabarkantha district. Many vehicle vandalized in clash & police personnel fired tear gas to control the situation.

Watch on Twitter

इसी घटना का बताए जा रहे एक अन्य वीडियो में पुलिस के सायरन सुनाई दे रहे हैं। दोनों तरफ से पथराव भी हो रहा है। भीड़ काफी शोर-शराबा कर रही है। साथ ही सड़क के बीच वाहनों को क्षतिग्रस्त किया गया है। इस घटना में कुछ पुलिसकर्मियों के भी घायल होने का समाचार है।

निखिल चौधरी द्वारा शेयर किए गए एक अन्य वीडियो में बाजर के एक हिस्से से धुआँ उठता दिखाई दे रहा है। बीच में से एक ट्रैक्टर सवार गुजर रहा है। निखिल के मुताबिक, पुलिस को हालात सँभालने के लिए आँसू गैस के गोले छोड़ने पड़े हैं।

इस रैली के संयोजक और हिम्मतनगर के निवासी  कनक सिंह ने बताया, “हम पर अचानक ही हमला हुआ है। यह हमला मुस्लिमों द्वारा किया गया है। उन्होंने पूरी प्लानिंग के साथ हम पर पत्थरों और डंडो से हमला बोला। हमारी तरफ से कोई तैयारी नहीं थी। हिम्मतनगर बाजार के बीच कुछ मुस्लिमों के घर हैं। ये सब उनके ही घरों से हुआ है। हमारी गाड़ियों को जला दिया गया। हमारे लोग भी घायल हुए हैं। पथराव में कम से कम आधे दर्जन पुलिस वाले घायल हैं।

हमलावरों में मुख्य रूप से राजू मेंटल, सिकंदर पठान, समीर पठान, खालिद पठान, मुबीन शेख, वाहिद पठान, उमर पठान व अन्य हैं। अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।” कनक सिंह राष्ट्रीय बजरंग दल के पदाधिकारी भी हैं।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x