कोरोना वायरस : देश में कोरोना के 114 मामलों की पुष्टि

नयी दिल्ली।

 देश में कोरोना वायरस लगातार पांव पसारता जा रहा है। ओडिशा में कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला सामना आया है। लद्दाख, जम्मू-कश्मीर और केरल में सोमवार को संक्रमण का एक-एक नया मामला सामने आने के साथ देश में कुल संक्रमितों की संख्या 114 पहुंच गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि इनमें से 13 लोगों को ठीक होने पर अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है जबकि दो लोगों की मौत हुई है। संक्रमितों में 17 विदेशी शामिल है। उन्होंने बताया कि देश के 15 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आए हैं। उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक कोरोना वायरस से 135 देशों के 1,53,517 लोग संक्रमित हैं और 6000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक चार नये मामलों के साथ ओडिशा में एक, केरल में 23, लद्दाख में चार और जम्मू-कश्मीर में तीन संक्रमितों की पुष्टि हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को कोरोना वायरस से मुकाबला करने में डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य कर्मियों की कड़ी मेहनत एवं योगदान की सराहना की। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिये समन्वित एवं एकजुट कदम उठाए जा रहे हैं और लोग स्वस्थ रहें, यह सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। प्रधानमंत्री ने भारत द्वारा कोरोना वायरस से मुकाबला करने के विभिन्न आयामों को रेखांकित करने वाले विभिन्न लोगों को अपने ट्वीट में टैग भी किया। हैशटैग ‘इंडिया फाइट्स कोरोना’ से संबंधित ट्वीट में मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस से निपटने में उठाये गए कदमों को लोगों द्वारा रेखांकित करने से उनका मनोबल बढ़़ता है। महाराष्ट्र सरकार के अधिकारी ने बताया कि चार और मरीजों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है और इसके साथ ही राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 37 हो गई है। ओडिशा के मामले की जानकारी देते हुए भुवनेश्वर में अधिकारी ने कहा कि संक्रमित व्यक्ति शोधकर्ता है और हाल में इटली से आया था। उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक कोरोना वायरस से 135 देशों के 1,53,517 लोग संक्रमित हैं और 6000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। 

अधिकारी ने बताया कि 33 वर्षीय मरीज छह मार्च को इटली से दिल्ली लौटा था और 12 मार्च को ट्रेन से भुवनेश्वर पहुंचा था। कोरोना वायरस मामलों पर राज्य सरकार के प्रमुख प्रवक्ता सुब्रतो बागची ने संवाददाताओं को बताया कि मरीज को भुवनेश्वर स्थित कैपिटल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  उनके अनुसार , ‘‘ उसकी हालत स्थिर है और अबतक कोई गंभीर लक्षण उसमें सामने नहीं आए है।’’ बागची ने अनुसार  बुखार और सिर दर्द की शिकायत लेकर वह 13 मार्च को डॉक्टर के पास गया और अगले दिन अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती किया गया। उन्होंने बताया कि चूंकि यह व्यक्ति ट्रेन से दिल्ली से भुवनेश्वर पहुंचा इसलिए राज्य सरकार ने उसके संपर्क में आए लोगों का पता लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बागची ने बताया कि उसके परिवार के सदस्यों को पृथक और निगरानी में रखा गया है। मध्य प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार का भविष्य अधर में लटक गया है क्योंकि उम्मीद के अनुरूप विधानसभा के पटल पर शक्तिपरीक्षण नहीं हुआ और कोरोना वायरस के चलते सदन की कार्रवाई स्थगित कर दी। भाजपा विधायकों ने 22 विधायकों के पार्टी से इस्तीफे के बाद राज्यपाल लालजी टंडन के निर्देशानुसार शक्ति परीक्षण कराने की मांग की थी। हालांकि, प्रदेश के संसदीय कार्य मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने देश में कोरोना वायरस के खतरे तथा इस मामले में केन्द्र सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों का हवाला दिया। हंगामे के बीच ही विधानसभा अध्यक्ष एन पी प्रजापति ने व्यापक जनहित में 26 मार्च तक सदन की कार्यवाही स्थगित करने की घोषणा कर दी। 26 मार्च को राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान होना है। मध्य प्रदेश में राजनीतिक उठापटक जारी है, इस बीच देशभर में हजारों छात्रों को घरों तक सीमित कर दिया गया है और कर्मचारी घर से काम कर रहे हैं क्योंकि प्रशासन ने फ्लू जैसे लक्षण को फैलने से रोकने के लिए आपात योजना लागू की है। कई राज्यों में जिम, सिनेमा हॉल, स्विमिंगपुल और अन्य स्थानों को बंद कर दिया गया है। जम्मू-कश्मीर के लोकप्रिय पर्यटन स्थल पटनी टॉप रिसॉर्ट को भी 31 मार्च तक के लिए बंद करने आदेश दिया है। जिलाधिकारी पीयूष सिंगला ने सोमवार को जारी आदेश में कहा कि पटनी टॉप का होटल प्रबंधन प्राधिकरण यह सुनिश्चित करे कि निर्देशों का अनुपालन हो। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में 31 मार्च तक 50 से अधिक लोगों की मौजूदगी वाले धार्मिक, सामाजिक सांस्कृतिक कार्यक्रम और राजनीतिक बैठकें करने की अनुमति नहीं होगी।

उच्चतम न्यायालयने देशभर के कारावासों में भीड़ और अवसंरचना को लेकर स्वत: संज्ञान लिया। न्यायालय में वकीलों, वादियों और अन्य की थर्मल जांच की जा रही है। प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे और न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव की पीठ ने सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में जेल महानिदेशकों और मुख्य सचिवों को नोटिस जारी किये। न्यायालय ने इन सभी को 20 मार्च तक यह बताने का निर्देश दिया है कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर स्थिति से निबटने के लिये क्या कदम उठाये गये हैं। इस बीच, विदेश में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। कोरोना वायरस से प्रभावित ईरान से 53 लोगों को लेकर एअर इंडिया का एक विमान सोमवार की सुबह दिल्ली पहुंचा और यात्रियों को राजस्थान के जैसलमेर रवाना कर दिया गया जहां पर उन्हें सेना द्वारा स्थापित पृथक केंद्र में रखा जाएगा। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘ 53 भारतीयों (52 छात्रों और एक शिक्षक) का चौथा जत्था ईरान के तेहरान और शिराज से आ गया है। इसके साथ ही कुल 389 भारतीय अभी तक ईरान से भारत आ चुके हैं। ईरान में भारतीय दल और ईरानी अधिकारियों के प्रयासों की सराहना करता हूं।’’ कोरोना वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित देशों में ईरान भी शामिल है, जहां पर 700 से अधिक लोगों की इस वायरस के संक्रमण से मौत हो चुकी है और करीब 14 हजार लोग संक्रमित हैं। कोरोना वायरस खतरे के मद्देनजर लोगों के एकत्रित होने पर लगे प्रतिबंध के बावजूद कोचीन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर सामूहिक स्वागत कार्यक्रम आयोजित करने के लिए पुलिस ने 79 लोगों के खिलाफ सोमवार को मामला दर्ज किया। ये लोग लोकप्रिय रियलिटी कार्यक्रम के प्रतिभागी का स्वागत करने के लिए एकत्र हुए थे। एक ब्रिटिश सहित दो लोगों को केरल में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। इसके साथ ही रविवार को राज्य में कुल मामलों की संख्या 21 हो गई है। इसके मद्देनजर केरल सरकार ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ‘‘ कड़ी तोड़ो’’ नाम से पहल की है। 

पंजाब सरकार ने सेवानिवृत्त हो रहे सरकारी डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मियों को कोरोना वायरस के चलते 30 सितंबर तक सेवाविस्तार देने का सोमवार को फैसला किया। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह सरकार ने बेरोजगार एमबीबीएस डॉक्टरों से संपर्क कर स्वयंसेवी आधार पर इस संकट से निपटने में मदद करने का अनुरोध किया। कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर पश्चिम बंगाल विधानसभा ने समय पूर्व ही बजट सत्र समाप्त करने का फैसला किया है। विधानसभा परिसर में सोमवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी ने कहा कि बजट सत्र का दूसरा हिस्सा शुक्रवार को होने वाला था लेकिन कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर एहतियातन पहले ही कार्यवाही खत्म करने का फैसला किया गया है। इस बैठक में संसदीय कार्यमंत्री पार्थ चटर्जी और विपक्षी पार्टियों के नेताओं से हिस्सा लिया। हालांकि, 26 मार्च को राज्य सभा सीटों के लिए पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत मतदान होगा। कोरोना वायरस के चलते ओडिशा चुनाव आयोग ने पंचायत उपचुनाव स्थगित कर दिए हैं। राज्य चुनाव आयोग की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया कि जिला परिषद की दो सीटों, छह सरपंचों, आठ पंचायत समिति सीटों और 84 वार्डों में 24 मार्च को होने वाले उपचुनाव को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया गया है। आवास एवं शहरी विकास विभाग ने प्रशासन और स्थानीय निकायों को सभी सामुदायिक केंद्रों, चक्रवात आश्रय स्थल और अन्य इमारतों को बिजली पानी की सुविधा के साथ तैयार रखने को कहा ताकि उनका इस्तेमाल संदिग्धों को पृथक रखने में किया जा सके। प्रशासन ने एहतियातन प्रसिद्ध कोणार्क सूर्य मंदिर और भुवनेश्वर के धौली स्थित शांति स्तूप को आगंतुकों के लिए बंद कर दिया। पुरी स्थित जगन्नाथ पुरी, भुवनेश्वर स्थित श्री लिंगराज मंदिर में भी पाबंदियां लगाई गई हैं। इसके अलावा प्रशासन ने हरीपुर दोला उत्सव, बरुनी स्नान सहित अन्य उत्सवों पर भी पाबंदियां लगाई है। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर राज्य के सभी शिक्षण संस्थानों को 14 अप्रैल तक बंद करने की घोषणा की। झारखंड विधानसभा में सोमवार को सोरेन ने कहा कि यह आदेश 17 मार्च सेसरकारी और निजी शिक्षण संस्थानों के अलावा कोचिंग संस्थान और छात्रावासों पर भी लागू रहेगा।

थर्मल स्कैनर से मदद…

थर्मल स्‍कैनर एक ऐसा डिवाइस है जो शरीर के तापमान को दर्ज कर एक थर्मल इमेज तैयार करता है। इसकी स्‍क्रीन पर जो इमेज उभरकर आती है उसमें मौजूद अलग-अलग रंग शरीर ही नहीं उसके आस-पास की चीजों के तापमान को दर्शाती है। इस डिवाइस पर मौजूद रंगों के अलावा कुछ स्‍कैनर में बाकायदा शरीर का तापमान भी लिखा हुआ आता है। वुहान समेत अन्‍य एयरपोर्ट पर मौजूद जो स्‍कैनर लगाए गए हैं उनमें दोनों ही तरह की व्‍यवस्‍था है। इतना ही नहीं किसी व्‍यक्ति के शरीर का तापमान सामान्‍य से अधिक होने पर यह स्‍कैनर बीप के माध्‍यम से सिग्‍नल देते हैं। इसके बाद उक्‍त व्‍यक्ति को दूसरे यात्रियों से अलग कर उसकी जांच की जाती है और उसका ब्‍लड सैंपल लिया जाता है।  के कई देशों के एयरपोर्ट पर लगाए गए थर्मल स्‍कैनर की तकनीक को सन 1800 में सर विलियम हर्शेल ने इजाद किया था। इसमें थर्मल मेजरमेंट के लिए इंफ्रारेड रेज का इस्‍तेमाल किया गया था। 1883 में मैलोनी ने इसमें क्रांतिकारी बदलाव किया। उनके द्वारा बनाया गया डिवाइस दस मीटर दूर से किसी भी व्‍यक्ति के तापमान का पता लगाने में सक्षम था। इस डिवाइस के सामने आने के बाद भी इसको लेकर लगातार शोध होता रहा। 1901 में चार्ल्‍स ग्रीले और लेंग्‍ले एक ऐसा डिवाइस बनाने में कामयाब हुए जो 400 मीटर की दूरी पर शरीर के तापमान को माप लेता था। इसके प्रयोग के लिए उन्‍होंने गाय का इस्‍तेमाल किया था।

Sach ki Dastak

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x