चंदा कोचर और उनके परिवार पर ED की बड़ी कार्रवाई, मु. घर समेत 78 करोड़ की संपत्ति जब्त

-कोचर पर आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ रहते वीडियोकॉन समूह को 3,250 करोड़ का लोन देने में गड़बड़ी का आरोप
-ईडी ने फरवरी, 2019 में चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और वीडियोकॉन समूह के प्रमुख ब्रजमोहन धूत के खिलाफ मामला दर्ज किया

आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व एमडी और सीईओ चंदा कोचर पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बड़ी कार्रवाई की है। ईडी ने शुक्रवार को चंदा कोचर और उनके परिवार की संपत्ति जब्त कर ली है।आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व अधिकारी की कुल 78 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई है, जिसमें मुंबई में उनका घर और उनके पति की कंपनी की कुछ संपत्ति शामिल है।

चंदा कोचर और उनके परिवार के खिलाफ यह कार्रवाई धोखाधड़ी मामले में की गई है। यह मामला आईसीआईसीआई बैंक द्वारा वीडियोकॉन समूह को साल 2009 से लेकर 2011 के दौरान प्रदत्त 1,875 करोड़ रुपये के कर्ज को मंजूरी देने में कथित भ्रष्टाचार से जुड़ा है। ईडी का आरोप है कि कोचर ने आईसीआईसीआई बैंक के प्रमुख रहते हुए गैर कानूनी तरीके से अपने पति की कंपनी न्यूपावर रिन्यूएबल्स को करोड़ों रुपये दिए।

बता दें कि ईडी ने इस मामले में चंदा कोचर से कई बार पूछताछ कर चुकी है। ईडी ने मार्च में कोचर परिवार के आवास और कार्यालय परिसरों की तलाशी भी ली थी। ईडी ने मामले में वीडियोकॉन के चेयरमैन वेणुगोपाल धूत से भी पूछताछ कर चुकी है।

वीडियोकॉन के चेयरमैन वेणुगोपाल धूत ने कथित तौर पर आईसीआईसीआई बैंक से कर्ज की मंजूरी के बदले में अपनी कंपनी सुप्रीम इनर्जी के माध्यम से न्यूपावर रिन्यूएबल्स लिमिटेड में निवेश किया। वीडियोकॉन समूह को दिए गए कुल कर्ज 40,000 करोड़ रुपये के एक बड़े हिस्से की 2017 के आखिर में वसूली नहीं हो पाई और बैंक ने 2,810 करोड़ रुपये के कर्ज को एनपीए घोषित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *