ह्यूमनिस्ट नबाब कायमखानी की बायोग्राफ़ी “गोल्डन बुक ऑफ द अर्थ” में शामिल

अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री मोदी सहित 20 देशों के राष्ट्र प्रमुखों की प्रेरक आत्मकथाओं के साथ कुल 101 महान व्यक्तियों की जीवनी प्रकाशित व प्रसारित ….

अंग्रेज़ी भाषा में प्रकाशित यह बुक अमेजॉन पर 7 नवम्बर तक उपलब्ध होगी ..

         इंटरनेशनल बुक पब्लिशिंग हाउस प्रूडेंट पेन्स व स्वर्ण भारत परिवार के संयुक्त प्रयास से “द मोस्ट इन्सपायरिग पीपल आॅफ अर्थ 2020”  अवार्ड व समिट कार्यक्रम में विश्व के 101 महान व्यक्तियों की प्रेरक आत्मकथाओं का संग्रह “ गोल्डन बुक ऑफ़ द अर्थ “ का अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर वर्चुअल विमोचन किया गया ।

    गोल्डन बुक ऑफ द अर्थ में


अन्तरराष्ट्रीय सद्भावना राजदूत डाक्टरेट ह्यूमनिस्ट मौहम्मद नबाब खान की संघर्षपूर्ण जीवनी को भी सामिल किया गया है. दुबई में रहने वाले प्रवासी भारतीय राजस्थान के नागौर जिले की डिडवाना तहसील के गाँव दाऊदसर के कायमखानी कौम के एक मध्यम परिवार में कायमखानी महासभा के पूर्व अध्यक्ष रिसालदार हुसैन खान के  बेटे है, और पिछले 14 वर्षों से  दुबई में एक पेशेवर घुड़सवार है. ह्यूमनिस्ट मौहम्मद नबाब खान अन्तरराष्ट्रीय सद्भावना राजदूत व  युनाइटेड नेशन्स के वालिटींयर एवं विश्व शांति और मानवता अभियान WPHM के प्रमुख और एशिया, अरब, युरोप व अफ्रीकन देशों के कई अन्तरराष्ट्रीय संगठनों के एम्बेसडर है. ह्यूमनिस्ट मौहम्मद नबाब खान को विश्व शांति और मानवीय कार्यों में उत्साह प्रदान करने के लिए जर्मनी के शाही परिवार से प्रिसं आफ़ पीस का खिताब व इन्डोनेशिया के शाही परिवार की मानद सदस्यता एवं फिल्म स्टार अवतार गिल द्वारा  इन्डिया प्राईड अवार्ड के सम्मान के अलावा दो दर्जन देशों के कई अन्तरराष्ट्रीय संगठनों द्वारा 17 डाक्टरेट की मानद उपाधि और 175 अवार्ड, शील्ड व उच्च  प्रशंसा प्रमाण पत्र प्राप्त है.

हालांकि ह्यूमनिस्ट मौहम्मद नबाब खान की बायोग्राफी गोल्डन बुक ऑफ द अर्थ में छपना कोई मामुली बात नहीं थी. इसके पीछे सालों 18 सालों का संघर्ष भरा जीवन और मेहनत से कामयाबी हासिल करने का एक अभिभूत सफर रहा है. गोल्डन बुक ऑफ द अर्थ में ह्यूमनिस्ट मौहम्मद नबाब खान की बायोग्राफी शामिल होने पर उनके परिजन और मित्र व देश विदेश के सामाजिक कार्यकर्ता एवं अनेक अन्तरराष्ट्रीय संगठनों के पदाधिकारी उन्हें बधाई दे रहे हैं.  गोल्डन बुक ऑफ द अर्थ में अपनी बायोग्राफी शामिल होने पर ह्यूमनिस्ट मौहम्मद नबाब खान अपने को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.

  विश्व के दस देशों के लेखकों द्वारा लिखित इस किताब में भारतीय प्रधानमंत्री की अनूठी आत्मकथा को नए तरीके से पेश किया गया है ।साथ ही 20 देशों के राष्ट्रपति व प्रधानमंत्रियों की जीवनगाथा को स्थान दिया गया है जिसमे ऑस्ट्रलिया, अमेरिका,रूस, इंगलैंड, घाना, इंडोनेशिया युएई मुख्य रूप से है. इसके साथ ही अभिनेता सोनू सूद ,मंत्री जयशंकर प्रसाद, नितिन गड़करी , मनीष सिसोदिया की प्रेरक जीवनी को भी शामिल किया गया है ।
    बुक जल्द ही 5 नवम्बर तक इंटरनेशनल बुक सेलर अमेज़ॉन की वेबसाइट पर किंडल वर्जन के साथ प्रिंट वर्जन में जारी की जाएगी । वेब मॉडल तैयार कर  रही कंपनी जेम्स इंफोटेक ने द इंस्पारिग पीपल डॉट कॉम की वेबसाइट पर सभी चयनित विशेषज्ञों की जीवनी जारी करने का निर्णय लिया है।
   इस अवसर पर “द मोस्ट इंस्पायरिंग पीपल ऑफ अर्थ” टाइटल वेबसाइट लांच की गई है, जिसमें विषम परिस्थियों में प्रेरणादायक  कार्य करने वाले  लोगो की कहानियाँ अपलोड की जायेगी ।
   भारत मे जीवनी संग्रहण में स्वर्ण भारत परिवार ट्रस्ट के साथ दिशा फॉउन्डेशन व उदयकौशल फॉउन्डेशन का महत्वपूर्ण योगदान रहा ।

अन्तरराष्ट्रीय सद्भावना राजदूत डाक्टरेट ह्यूमनिस्ट मौहम्मद  नबाब खान, प्रमुख विश्व शांति और मानवता अभियान WPHM

1 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Avulamanda veerababu
1 month ago

Nice. congrats

1
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x