खादी वस्त्र नहीं है वह एक विचार है- पढ़िये रिपोर्ट


कुम्भ नगरी (प्रयागराज), 30 जनवरी2019


खादी वस्त्र नहीं विचार है, खादी हमें आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनाती है. देश के नौजवान खादी को अपने परिधान के रुप में अपनायेंगे तो खादी अपने आप प्रसिद्ध होगी तथा दुनिया के लोग खादी का लोहा मानेंगे. खादी भारतीय संस्कृति का हिस्सा है। 

Khadi Textile is not considered, Khadi makes us self-sufficient and self-reliant. The country’s youth will adopt Khadi as their garment, then Khadi will be famous by itself and the people of the world will consider Khadi’s iron. Khadi is part of Indian culture.

उक्त बातें मंत्री, खादी एवं ग्रामोद्योग उ.प्र शासन सत्यदेव पचौरी ने मंगलवार को महात्मा गांधी के 150वीं जयन्ती के अवसर पर कुम्भ मेला क्षेत्र के सेक्टर 1 में राष्ट्रीय खादी ग्रामोद्योग प्रदर्शनी में आयोजित खादी फैशन शो के अवसर पर कही. उन्होंने आम जनमानस से खादी वस्त्र को अपने दैनिक परिधान के रुप में अपनाने का आहवान किया. खादी को ब्रांड के रुप में विकसित तथा प्रचारित करने के उद्देश्य से उ.प्र खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग द्वारा आयोजित फैशन शो का आयोजन किया गया है.

उन्होंने कहा कि लोगों को रोज़गार से जोड़ना, गांव के उत्थान के लिए निरंतर प्रयास करना तथा स्वाधीन भारत को नयी ऊंचाईयों पर पहुंचाना ही खादी का विचार है. जहां पर संस्कृति एवं समृद्धि का समावेश होगा वहां खादी अपने आप नये-नये कीर्तिमान स्थापित करेगी. उन्होंने कहा कि खादी को वर्तमान समय में नये रुप में प्रस्तुत करना है, यह खादी के लिए चुनौती तथा अवसर के रुप में भी है. खादी को परिवर्तन करके नये रुप में प्रस्तुत करने से दुनिया खादी को फिर से लोहा मानेगी.

खादी अपनाने के लिए हमें अपने विचारों में परिवर्तन लाना होगा

      – मौनी बाबा

आयोजित फैशन शो के अवसर पर शिवयोगी मौनी जी महाराज ने अपने वक्तव्य में भारत के विकास के लिए खादी को अपनाने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि खादी, भारत की संस्कृति से जुड़ा हुआ है, अतः खादी को बढ़ावा देना हमारा कर्तव्य है. खादी को अपनाने के लिए हमें अपने विचारों में परिवर्तन लाना होगा जिससे भारत की गरीबी दूर होगी. भारत को सम्पन्न होने के लिए खादी को बढ़ावा देना हमारी प्राथमिकता में शामिल होना चाहिए.

इस अवसर पर फैशन शो में आभा चैधरी के नेतृत्व में कई माॅडलों ने खादी वस्त्रों को पहन कर रैम्प पर चलकर प्रस्तुति दी. उन्होंने विभिन्न विभागों तथा स्कूलों के ड्रेसों को खादी वस्त्र के रुप में धारण करके लोगों से खादी पहनने के लिए प्रेरित किया. इस दौरान श्रद्धा डांस गु्रप की तरफ से खादी वस्त्र धारण करके आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x