पढ़िये : पांच साल में इतनी बढ़ी राहुल गांधी की संपत्ति-

लोकसभा चुनाव 2019 की हलचल दिन प्रतिदिन बढ़ती दै रही है और उसी स्पीड से बढ़ रही है नेताओं की बयानबाजी – और जनता कहती है कि उससे भी ज्यादा स्पीड से क्यों बढ़ जाती है नेताओं की सम्पत्ति –
सम्पति के इसी क्रम में बात कर रहे हैं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायनाड लोकसभा सीट के लिए अपना नामांकन भरते हुए हलफनामे में अपनी संपत्ति 15.88 करोड़ रुपये से अधिक बताई है।
वर्ष 2014 के चुनाव में उन्होंने अपनी कुल संपत्ति 9.4 करोड़ रुपये बताई थी।
गुरुवार को चुनाव आयोग के समक्ष जमा किए गए हलफनामे के मुताबिक राहुल गांधी के पास अपनी कोई कार नहीं है। एसपीजी से मिली सुरक्षा के कारण उन्हें सुरक्षा कारणों से एसपीजी के वाहन में ही यात्रा करनी पड़ती है।

इतना ही नहीं, उन पर विभिन्न बैंकों और वित्तीय संस्थानों का 72 लाख रुपये का कर्ज भी है।

हलफनामे में राहुल ने अपनी चल संपत्ति 5,80,58,799 रुपये और अचल संपत्ति कुल 10,08,18,284 रुपये के मूल्य की घोषित की है। इस तरह उनकी कुल संपत्ति 15,88,77,083 रुपये की बताई जा रही है।

अमेठी से भी चुनाव लड़ने जा रहे कांग्रेस अध्यक्ष ने हलफनामे में अपने खिलाफ पांच मामले लंबित होने की भी बात स्वीकार की है।

हलफनामे के अनुसार राहुल के खिलाफ़ महाराष्ट्र में दो मामले और झारखंड, असम और नई दिल्ली में एक-एक मामला दर्ज है।

कांग्रेस अध्यक्ष के पास नकद राशि 40 हजार रुपये है। विभिन्न बैंकों में उनके खातों में कुल 17.93 लाख रुपये जमा हैं। उन्होंने विभिन्न कंपनियों के म्यूचुअल फंड, बांड, डिबेंचर और शेयरों में 5.19 करोड़ रुपयों का निवेश किया है। उनकी अचल संपत्ति में 333.3 ग्राम का सोना भी शामिल है। हलफनामे के अनुसार राहुल गांधी के पास दिल्ली के सुल्तानपुर गांव में अब भी खेत हैं। गुरुग्राम में उनके पास दो ऑफिस स्पेस भी हैं।

राहुल गांधी ने घोषित किया है कि उनकी आय का स्रोत केवल सांसद का वेतन, रायल्टी से मिलने वाली आय, किराये से आय, बांड से ब्याज और म्यूचुअल फंड से डिविडेंट और कैपिटल गेन मिला है।

कांग्रेस अध्यक्ष के अनुसार उन्होंने 1995 में कैम्बि्रज यूनिवर्सिटी के ट्रिनिटी कालेज से डेवलपमेंट स्टडीज में एम.फिल किया हुआ है। ताज्जुब है फिर भी कहते हैं लालू की मशीन जैसी अजीब बातें और बन जाते हैं हंसी के पात्र। 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x