क्रय केंद्रों पर किसानों का किया जा रहा शोषण

सच की दस्तक डेस्क सोनभद्र शिव प्रकाश पांडेय

पूर्वांचल नव निर्माण मंच के अध्यक्ष श्री कान्त त्रिपाठी व उपाध्यक्ष गिरीश पाण्डेय ने जिलाधिकारी को अवगत कराना है कि गेहूं खरीद के दौरान क्रय केंद्रों पर किसानो का शोषण किया जा रहा है। इस क्रम मे श्री पाण्डेय ने बताया कि चतरा विकास खंड के गुरौटी हाट शाखा पर गेहूं खरीद के लिए किसानों से 50 किलोग्राम के सापेक्ष 51 किलो 400 ग्राम की भर्ती ली जा रही है। साथ ही किसानों से प्रति कुंतल 25 रुपए पल्लेदारी के नाम पर नगद तथा गेहूं चालने के लिए चलना चलाने हेतु इंजन के लिए डीजल का पैसा भी लिया जा रहा है साथ ही क्रय केंद्र पर किसानो के ट्राली से उतारने और चालने मे जमीन पर गिर गए गेहूं को भी पल्लेदारी का अंश बताकर ले लिया जा रहा है। बता दें कि चतरा विकास खंड के हसनपुर गांव के किसान भोलादेव पाण्डेय मोबाइल नंबर 8005006244 द्वारा उपरोक्त जानकारी देते हुए बताया गया कि उनसे 150 रुपए डीजल के लिए तथा 25 रुपए प्रति क्विंटल पल्लेदारी ली गई है। जब इस संबंध मे श्री पाण्डेय ने अपरजिलाधिकारी से फोन पर शिकायत किया तो उनके द्वारा नियमों की जानकारी ना होने की बात कहते हुए फोन काट दिया गया। किसानो के हित मे क्रय केन्द्रों पर गेहूं खरीद से संबंधित नियमों की प्रति चस्पा नही करायी गई है श्री पाण्डेय ने चस्पा कराने की मांग की। साथ यह भी बताया कि किसानों से अवैध वसूली की गई है तो लाक डाउन के इस संकट काल में मुर्दे को लाठी पीटने के बराबर होगा। किसानों का पैसा वापस कराने तथा संबंधित क्रय प्रभारियों पर आवश्यक कार्रवाई कराने के लिए जिलाधिकारी के पोर्टल शिकायत दर्ज कराई गई।जिलाप्रशासन की शिथिलता के कारण धान खरीद के दौरान किसानों को बिचौलियों के माध्यम से लूटा गया था यहां तक कि फर्जी किसानों के नाम पर एक एक दिन मे तीन अलग अलग क्रय केंद्र पर धान खरीद दिखाया गया था , बावजूद इसके बावजूद जिला प्रशासन की तरफ से अभी तक कोई कार्रवाई नही की गई।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x