जो खाता नहीं खुलवा सके, वे खाते में पैसे कैसे डालेंगे – मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज लोकसभा चुनाव के लिए अपनी रैली का आगाज मेरठ से किया। उन्‍होंने रैली में कहा कि मैं गंभीर बात कर रहा हूं, ये सारे महामिलावटी लोग पाकिस्तान में पोस्टर ब्यॉव बन रहे हैं। वहां उनके नाम पर तालियां बज रही हैं। मैं पूछना चाहता हूं कि आपको हिंदुस्तान के हीरो चाहिए या पाकिस्तान के। आपको सबूत चाहिए या सपूत चाहिए। प्रधानमंत्री ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी सरकार ने करोड़ों लोगों के जन-धन खाते खुलवाए। विपक्ष गरीब लोगों के बैंक खाते तक नहीं खुलवा पाया और आज वह कह रहा है कि वह खाते में पैसे डालेगा। मैं पूछता हूं कि जो खाते नहीं खुलवा सके, वे खाते में पैसे कैसे डालेंगे।

उन्होंने कहा कि जिस पार्टी के नेताओं को जेल भेजने के लिए बहनजी ने जीवन के दो दशक लगा दिए उसी से उन्होंने हाथ मिला लिया, जिस दल के नेता गेस्ट हाउस में खत्म करना चाहते थे अब वो उनको साथी हो गए। उन्होंने कहा कि यूपी में तो सबकुछ बहुत जल्दी-जल्दी हो रहा था। पिछले चुनाव में दो लड़कों का खेल देखा और अब बुआ-बबुआ का खेल हुआ, ये भी बड़ा गजब है।

● 2022 तक इस देश में कोई परिवार पक्के घर के बिना नहीं रहेगा

उत्‍तराखंड के रुद्रपुर में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी सरकार की उलब्धियां गिनाते हुए कहा कि 2022 तक इस देश में कोई परिवार पक्के घर के बिना नहीं रहेगा। इतिहास में पहली बार सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण लागू किया गया है। ये तमाम काम अगर हुए हैं तो इसके पीछे आपका एक वोट है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जो सलूक और काम देश के जवानों के साथ किया वहीं सलूक किसान और गरीबों के साथ किया। चार पीढ़ी पहले गरीबी हटाने का वादा कांग्रेस ने किया था, वहीं वादा इस बार भी कांग्रेस दोहरा रही है। उन्होंने कहा कि जब तक कांग्रेस रहेगी, देश के हर कोने में गरीबी रहेगी।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड सैनिक धाम है। विपक्ष ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाए। डरने और झुकने का काम कांग्रेस का है। सेना ने जवानों की मौत का बदला मांगा तो कांग्रेस ने सेनाध्यक्ष को ही कटघरे में खड़ा कर दिया। देश की सेना को कांग्रेस ने हथियार नहीं दिए क्योंकि कांग्रेस का ध्यान देश सुरक्षा की बजाए मलाई खाने में लगा था।

● खौफ में हैं सीमापार आतंक की फैक्ट्री चलाने वाले

जम्‍मू में एक रैली में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि चुनाव के लिए जब में पूरे देश से आशीर्वाद लेने निकला हूं तो पहले दिन जम्मू में मुझे माता वैष्णो देवी का आशीर्वाद प्राप्त हुआ है। 11 अप्रैल को जब आप कमल के फूल के सामने वाले ईवीएम का बटन दबाएंगे, तो उसकी आवाज देश के भीतर जमें आतंकियों के और उसके साथियों में तो खलबली मचाएगी ही और साथ में सीमा पार भी उसकी गूंज सुनाई देगी। उन्‍होंने कहा कि समझ नहीं आता कि क्या ये वही कांग्रेस हैं, जिसमें रहकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने आजाद भारत की कल्पना की थी। सीमापार आतंक की फैक्ट्री चलाने वाले आज खौफ में है। पहली बार ऐसे हुआ है कि सीमा पार भारत को दहलाने के लिए आने वाले आतंकी भी आज 100 बार सोच रहे हैं।

आज आतंकी और आतंक के सरपरस्त ये दुआ मांग रहे हैं कि कुछ भी हो जाए। मगर चौकीदार से जैसे तैसे छुटकारा मिल जाए और ये महामिलावटी दिल्ली में बैठ जाएं। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस के साथ-साथ जम्‍मू कश्‍मीर की पार्टियों नेशनल कॉन्‍फ्रेंस और पीडीपी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि दो तीन दिन पहले जो हुआ वो और शर्मनाक है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के एक उम्मीदवार द्वारा अनाप शनाप बयान बाजी की गई ये पूरे देश ने देखा है।

Sach ki Dastak

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x