आकाशीय बिजली की चपेट में आने से पांच की मौत

0

सच की दस्तक डिजिटल न्यूज डेस्क वाराणसी चन्दौली 

चंदौली जनपद में बुधवार की शाम हुई बारिश के दौरान आकाशीय बिजली की चपेट में आने से पांच लोगों की मौत हो गयी। वहीं कई लोगों के गंभीर रूप से झुलसने की भी सूचनाएं प्राप्त हो रही है। इससे जहां मृतक परिवारों में हाहाकार मचा हुआ है। वहीं घायलों का अलग-अलग अस्पतालों में उपचार के लिए भर्ती कराया। दैवीय आपदा के बाद जिला प्रशासन व पुलिस भी हरकत में नजर आया। शवों को स्थानीय पुलिस द्वारा पंचनामा कर जिला अस्पताल स्थित पोस्टमार्टम हाउस लाया गया, जहां रात के वक्त ही शवों का पोस्टमार्टम किया जाएगा।
विदित हो कि बुधवार की शाम बारिश के दौरान जनपद के अलग-अलग हिस्सों में आकाशीय बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से जहां दर्जन भर लोग गंभीर रूप से झुलस गए। वहीं इसकी जद में आने से पांच लोगों की मौत हो गयी। जनपद के मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के भिसौड़ी गांव में मोती यादव 50 वर्ष सिवान में भैंस चरा रहे थे, तभी आकाशीय बिजली की चपेट में आने से उनकी मौत हो गयी। वहीं कुण्डा कला निवासी पुल्लू 42 वर्ष मछली मारते समय आकाशीय बिजली की चपेट में आ गए। वहीं कुण्डा कला गांव में ही मछली मार रहे 55 वर्षीय रूपलाल आकाशीय बिजली की चपेट में आ गए और गंगा नदी में जा गिरे। जिनकी खोजबिन पुलिस द्वारा की जा रही है। इसके अलावा अलीनगर थाना क्षेत्र के बरईपुर निवासी दो चचेरे भाई अंकित यादव 15 वर्ष व चिंटू यादव 13 वर्ष भैंस चराते समय आकाशीय बिजली की जद में आ गए, जिससे उनकी मौत हो गयी। वहीं कंदवा थाना क्षेत्र के कोदई गांव निवासी मुनीब बिंद 55 वर्ष खेत की मेढ़ बांधते समय आकाशीय बिजली की चपेट में आ गए, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गयी। वहीं कंदवा क्षेत्र में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से सोनी 15 बेहोश हो गई। वहीं सिसौड़ा गांव में बिजली की चपेट में आने से जित्तन चौहान 55 और प्रिंयका 26 भी झुलस गए। जिनका इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है। वहीं अदसड़ गांव में रोपाई कर रही सुराही 50, चानी 28, किरन 18, चंपा 36, माया 18, शकुंतला 35, देवंती 55, नरदा 20, पोतनी 40, लाली 28, फुलवा 40 और सुढना गांव में खेत में रोपाई कर रही भगमानी 60 और रीमा 20 वर्ष भी आकाशीय बिजली की चपेट में आ गई। तेज आवाज व चमक देख एकबारगी तो आस पास मौजूद लोग भी दहशत से सहम गये।बिजली की चपेट में आई महिलाओं को परिजन और ग्रामीण तुरंत जिला अस्पताल और आदर्श नुआंव स्थित निजी अस्पताल ले गए।

Sach ki Dastak

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x