आ जाओ मेरी माँ अम्बे ____संध्या चतुर्वेदी 

जय अंबे ,अष्ट भवानी अंबे माँ
सिंह भवानी जय माँ, जगदंबे अंबे माँ।।

१) जय माँ शैलपुत्री ,आ जाओ मेरी माँ,
धन – धान्यप्रदायिनी मेरी माँ ।

शेर पर सवारी कर ,दुष्टों का संहार करो माँ।।
२) जय माँ ब्रह्मचारिणी ,आ जाओ मेरी माँ,

बुद्धि विवेक प्रदान कर, सब का कल्याण करो माँ।
त्याग- संयम- वैराग्य प्रदायिनी मेरी माँ।

३)जय माँ चंद्रघंटा,आ जाओ मेरी माँ

पापों का विनाश कर वीरता प्रदायिनी मेरी माँ।

४)जय माँ कुष्मांडा, आ जाओ मेरी माँ
रोग शोक नाशिनी ,यश वृद्धि प्रदायिनी, मेरी माँ।

५)जय माँ स्कंदमाता आ जाओ मेरी माँ।
मोक्ष- द्वार प्रदायिनी, चिंता दुख- हारणी मेरी माँ।

६)जय माँ कात्यायनी,आ जाओ मेरी माँ,
अद्भुत शक्ति प्रदान कर, दिव्य- स्वरूप दायिनी 
आ जाओ मेरी माँ

७) जय माँ कालरात्रि, आ जाओ मेरी माँ।
दुश्मन का विनाश कर, दुष्टों का संहार करो मेरी माँ।।

८)जय माँ महागौरी,आ जाओ मेरी माँ।
सर्व -सुख प्रदायनी, सुंदर- वर प्रदान कर मेरी माँ।।

९)जय माँ सिद्धिदात्री, आ जाओ मेरी माँ।
सब दुख दूर कर ,अमरत्व प्रदान करो मेरी माँ ।।

अष्ट भवानी दुर्गा माँ ,सिंह वाहिनी मेरी माँ ।।
आ जाओ मेरी माँ आ जाओ मेरी माँ।।

लेखिका – संध्या चतुर्वेदी 
अहमदाबाद गुजरात

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x