डॉक्टर की घोर लापरवाही से पेट में निकला तौलिया-

भगवान का दूसरा रूप कहे जाने वाले चिकित्सक की लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया है। दरअसल परिजनों ने आरोप लगाया है कि ऑपरेशन के दौरान चिकित्सक ने मरीज के पेट में तौलिया छोड़ दिया था। पूरे 3महीने के बाद पेट में ही तौलिया पड़ा रहा।

जब मरीज को असहनीय दर्द हुआ तो एक अन्य डॉक्टर द्वारा मरीज का ऑपरेशन किया गया उसके उपरांत मरीज के पेट से तौलिया निकाला गया। वर्तमान समय में मरीज की हालत चिंताजनक बनी हुई है। वहीं इस मामले में आरोपी डॉक्टर ने अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि वर्तमान समय में प्रतिस्पर्धा के कारण डॉक्टर द्वारा मुझ पर आरोप लगाया जा रहा है जो बिल्कुल निराधार है।

जानकारी हो कि जनपद के चनहटा का गांव की रहने वाली प्रभादेवी ने चन्दौली स्थित एक नर्सिंग होम में बच्चेदानी का ऑपरेशन 3महीने पहले करवाया था। परिजनों का आरोप है कि उस समय ऑपरेशन के दौरान नर्सिंग होम के डॉक्टर ने मेडिकेटेड तौलिया पेट में छोड़ दिया। ऑपरेशन के बाद मरीज के ऑपरेशन वाले जगह से पहले तो पास आना शुरू हुआ।

उसके बाद असहनीय दर्द होने के कारण मरीज को दूसरे डॉक्टर की शरण लेनी पड़ी। बाकायदा चिकित्सक ने अल्ट्रासाउंड कराया तो पेट में तौलिया नजर आया। उसके बाद निजी अस्पताल में मरीज का पुनः ऑपरेशन कर तौलिया को बाहर निकाला गया। इस संबंध में चिकित्सक ने बताया कि अभी मरीज की हालत चिंताजनक बनी हुई है। उधर चन्दौली स्थित केजी नंदा नर्सिंग होम के डॉक्टर ने कहा कि वर्तमान समय में अस्पतालों में एक प्रतिस्पर्धा हो रही है। जिसके कारण यह गलत आरोप हमारे पर लगाए जा रहे हैं।

यह आरोप पूरी तरह निराधार है। इस संबंध में मुख्य चिकित्सक अधिकारी से जानकारी मांगी गई तो उन्होंने कहा कि अभी तक परिजनों द्वारा कोई भी शिकायत प्राप्त नहीं हुई है शिकायत मिलते ही अस्पताल व डॉक्टर पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

जानकारी हो कि यही नर्सिंग होम के डॉक्टर पर किडनी निकालने का भी आरोप लग चुका है लेकिन जनपद के आला अधिकारियों की मदद से वह भी मामला रफा-दफा हो गया था। अब यह नया आरोप लग रहा है देखते हैं कि इस बार कोई कार्यवाही होती है कि नहीं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x