आतंकवाद के खिलाफ भारत को मिला अर्जेंटीना का साथ-

नई दिल्ली ,

अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मॉरिसिओ मैक्री (Mauricio Macri) 17 से 19 फरवरी तक भारत के तीन दिवसीय दौरे पर आए हैं। इस दौरान सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मौरिसियो मैक्री के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई।

इस वार्ता के बाद पीएम मोदी ने कहा कि मैक्री और मैं मानते हैं कि आतंकवाद वैश्विक शांति और स्थिरता के लिए बड़ा खतरा है। पुलवामा (Pulwama Terror attack) जैसे बड़े आतंकी हमले ने साफ कर दिया है कि अब बातचीत का वक्त निकल चुका है। अब दुनिया को इसके खिलाफ एक होकर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई न करना उसे बढ़ावा देने जैसा
इस मौके पर पीएम मोदी ने बताया कि 2018 में जी20 सम्मेलन अर्जेंटीना की राजधानी में हुआ था और अब 2022 में भारत में होगा। उस साल भारत की स्वतंत्रता को 75 साल पूरे हो जाएंगे। इसके लिए उन्होंने मैक्री का शुक्रियादा किया। पीएम मोदी ने यह भी कहा कि आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई न करना उसे बढ़ावा देने जैसा है।

मैक्री ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी
इस दौरान पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए मौरिसियो मैक्री ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद उन्होंने कहा कि अर्जेंटीना किसी भी तरह की आतंकवादी घटना की निंदा करता है। इससे निपटने के लिए हम भारत के साथ काम करके संतुष्ट हैं।

महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी
बता दें कि इससे पहले अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मौरिसियो मैक्री का सोमवार को राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया। उनके साथ उनकी पत्नी जुलियाना अवाडा भी भारत की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं। इसके बाद उन्होंने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि भी अर्पित की।

अर्जेंटीना के राष्ट्रपति की ये यात्रा भारत-अर्जेंटीना राजनीतिक ♦संबंधों की स्थापना के 70 वें वर्ष के उपलध्य में हो रही है। यह यात्रा दिसंबर 2018 में जी-20 के लिए पीएम मोदी की अर्जेंटीना यात्रा के बाद हो रही है। वे इस दौरान मोदी द्वारा दिए गए निमंत्रण के बाद भारत आए हैं। 

राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मौरिसियो माक्री को तीनों सेनाओं के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उनकी पत्नी सविता कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ- साथ उनके मंत्रिमंडल के कई वरिष्ठ साथी मौजूद रहे।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x