किसानों को जागृत करने के लिए संगोष्ठी का हुआ आयोजन

सच की दस्तक न्यूज़ डेस्क चन्दौली

स्वामी कबीर मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा (पराली) कृषक जागरूकता संगोष्ठी का आयोजन जनपद चन्दौली के नियामताबाद क्षेत्र के ग्राम सभा पचोखर मे स्थित साधन सहकारी समिति पर किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि द्वारा सरस्वती जी के पूजन अर्चन के साथ किया गया। वही इस संगोष्ठी में उपस्थित किसानों ने अपनी समस्याओं से उपस्थित अधिकारियों को अवगत कराया ।

इसी कड़ी में पचोखर ग्राम सभा के किसान राणा प्रताप मौर्य ने कहा कि धान की फसल पर पहले ही बहुत अधिक खर्च आता है ।अगर सरकार के बताए तरीके से पराली से निपटने के लिए मशीनों का इंतजाम भी कर लिया जाए तो प्रति एकड़ पाँच हजार से छःहजार तक का खर्च आता है , वह कौन वहन करेगा ? किसानों की मजबूरी यह है कि अगली फसल की तैयारी के लिए समय कम होता है , तो दूसरी तरफ पराली को इकट्ठा करने में खर्चा भी आता है। जिससे किसान पराली जलाने को मजबूर है। वही क्रय केंद्रों पर धान की खरीद पर प्रश्न चिन्ह उठाते हुए कहा कि समय रहते यदि किसानों का अनाज सरकार द्वारा नहीं खरीदा गया तो किसानों के समक्ष बहुत बड़ी मुसीबत खड़ी हो जाएगी।

वही कार्यक्रम में भाग लेते हुए सच की दस्तक राषटीय पत्रिका के संपादक ब्रजेश कुमार ने पराली अवशेष प्रबन्धन पर चर्चा की।उन्होंने कहा वर्तमान समय मे प्रदूषण के मद्देनजर पराली किसानों को नही जलानी चाहिए बल्कि डीकम्पोज़ क्रिया द्वारा उर्वरा शक्ति को बढ़ाने का प्रयास करना चाहिये।
वही इस कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि कृषि जिला अधिकारी राजीव कुमार भारती ने किसानों को आश्वस्त करते हुए किसानों से पराली न जलाने की अपील की।उन्होंने बताया कि पराली जलाने से जहां पर्यावरण दूषित होता है वही पृथ्वी की उर्वरा शक्ति एवं सहयोगी जीवाश्म भी नष्ट हो जाते हैं इनको बचाने के लिए और उर्वरा शक्ति बढ़ाने के लिए हम लोगों को पराली को जलाना नहीं बल्कि उसको उपयोग में लाना होगा। आगे उन्होंने कहा कि अगर हम धान के कटे हुए अवशेष को डी कंपोजर के माध्यम से चढ़ाते हैं तो हमारे मिट्टी को 70% उर्वरा शक्ति प्राप्त होगी जिससे कार्बनिक खाद की मात्रा कम हो जाएगी पृथ्वी जो हमें अन्न देती है उसको भी 30% खुराक की जरूरत होती है और यह खुराक पराली से ही प्राप्त हो सकती हैं । कोई उपस्थित किसानों से एडीओ ने जनपद में काला चावल की खेती के लिए अपील किया जिससे किसानों की आय कई गुना ज्यादा बढ़ सके। इस अवसर पर संस्था के अध्यक्ष दिलीप कुमार सचिव तलवार सिंह उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार गुप्ता कोषाध्यक्ष राजन कुमार गुप्ता आनंद उपाध्याय, कमलेश तिवारी वही किसान प्रेम बहादुर सिंह, प्रमोद कुमार मौर्य ,प्रदीप कुमार मौर्य परमानंद कुशवाहा श्री केश जी जितेंद्र कुमार वर्मा चंदन गुप्ता अमन बंदना आदि लोग उपस्थित रहे। इस अवसर पर सच की दस्तक के संपादक ब्रजेश कुमार को पत्रकारिता के माध्यम कोरोना में लोगो की समस्या को सामने लाना और संस्था के कार्यो के सहयोग के लिए सम्मानित किया गया।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x