बैंक हड़ताल से करोड़ो का कारोबार ठप

सच की दस्तक डेस्क चन्दौली

देशभर में 21 सरकारी और 9 पुराने निजी बैंकों के 10 लाख कर्मचारी बुधवार को हड़ताल पर रहें। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन की अपील पर ये हड़ताल की गई। इसमें कर्मचारियों की 4 और अधिकारियों की 5 यूनियन शामिल हुए। नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स के उपाध्यक्ष अश्विनी राणा के मुताबिक, पुराने निजी बैंक जो यूनियन से जुड़े हैं उनमें कामकाज नहीं होगा।  सरकारी बैंकों के मर्जर के विरोध में और वेतन बढ़ोतरी की मांग को लेकर कर्मचारियों ने हड़ताल का फैसला लिया।

जानकारी के अनुसार   बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक और विजया बैंक के मर्जर का फैसला लिया है। कर्मचारी संघ इसका विरोध कर रहे हैं। इंडियन बैंक्स एसोसिएशन ने 8% वेतन बढ़ोतरी का प्रस्ताव दिया है। बैंक कर्मचारी संघों को यह मंजूर नहीं। वेतन वृद्धि नवंबर 2017 से बकाया है। सरकार ने बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक और विजया बैंक के मर्जर का फैसला लिया है। कर्मचारी संघ इसका विरोध कर रहे हैं। इंडियन बैंक्स एसोसिएशन ने 8% वेतन बढ़ोतरी का प्रस्ताव दिया है। बैंक कर्मचारी संघों को यह मंजूर नहीं। वेतन वृद्धि नवंबर 2017 से बकाया है।

चन्दौली के डीडीयू मुगलसराय में भी दिखा असर

इसी मांग को लेकर जनपद चंदौली के पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर में बैंक कर्मियों ने हड़ताल की बैंक कर्मी एक जगह पर एकत्र होकर देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ नारे लगाए। साथ ही जुलूस निकालकर सभी बैंकों पर ताले लगवाए । इसमें सरकारी बैंक के साथ साथ प्राइवेट बैंक के कर्मचारी भी शामिल हुए । बैंक कर्मियों में मुख्य रूप से ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स रंजीत सिंह, इलियास यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया से राजकुमार, अजित श्रीवास्तव,नदीम , चंचल विजया बैंक सिंह और शुभम सेंट्रल बैंक का नेतृत्व कर रहे थे ,इसकेे अलावा अन्य कई बैंकों के कर्मचारी भी मौजूद रहे।

नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स का कहना है कि बैंकों में पब्लिक का भी शेयर है। इसलिए, सरकार कोई फैसला अपने आप नहीं ले सकती। हमारी मांग है कि सभी पक्षों के बातचीत के बाद फैसला होना चाहिए। वेतन बढ़ोतरी के लिए जो तर्क इंडियन बैंक एसोसिएशन दे रहा है वह कर्मचारी संघों को मंजूर नहीं।

 

एक हफ्ते में दूसरी हड़ताल
कर्मचारियों की यूनियन की एक हफ्ते से भी कम समय में यह दूसरी हड़ताल है। ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (एआईबीओसी) से जुड़े कर्मचारी शुक्रवार को हड़ताल पर रहे। शनिवार, रविवार को सार्वजनिक अवकाश रहा। सोमवार को बैंक खुले, लेकिन मंगलवार को फिर क्रिसमस की छुट्टी रही। इस तरह पिछले 5 दिन में बैंकों में सिर्फ 1 दिन काम हुआ।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
cialis
1 year ago

I think this is one of the most vital info for me.
And i am glad reading your article. But want to remark on some
general things, The website style is great, the articles is really nice : D.
Good job, cheers

Royal CBD
7 months ago

What i don’t realize is actually how you’re now not really much more
smartly-preferred than you might be right now.
You’re so intelligent. You already know therefore considerably with regards
to this topic, made me personally consider it from
so many numerous angles. Its like men and women don’t seem to be interested except it’s something to
accomplish with Lady gaga! Your individual stuffs outstanding.
Always deal with it up!

P.S. If you have a minute, would love your feedback on my new
website
re-design. You can find it by searching for «royal cbd» — no sweat if you can’t.

Keep up the good work!

2
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x