Mumbai brige collapse LIVE: CMST के पास फुटओवर ब्रिज गिरने से 5 की मौत, 32घायल-भ्रष्टाचार है जिम्मेदार

मुंबई में छत्रपति शिवाजी स्‍टेशन के पास एक फुटओवर ब्रिज गिर गया, जिसमें 5 लोगों की मौत हो गई, जबकि 32 अन्‍य घायल हो गए

हादसा गुरुवार शाम करीब 7.30 बजे हुआ। घायलों को अस्‍पतालों में भर्ती कराया गया है। उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए मृतकों की संख्‍या बढ़ने का अंदेशा जताया जा रहा है।

यह फुटओवर ब्रिज सीएसटी प्‍लेटफॉर्म संख्‍या 1 के उत्‍तरी छोर को टाइम्‍स ऑफ इंडिया बिल्डिंग के पास बीटी लेन से जोड़ता था। पुलिस ने यात्रियों को वैकल्पिक मार्ग चुनने की सलाह दी है, क्‍योंकि घटना के बाद यहां यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है। घटना के तुरंत बाद बचाव एवं राहत शुरू कर दिए गए। घटनास्‍थल पर सीनियर अधिकारी मौजूद हैं।

हेल्पलाइन नंबर – 

हादसे में घायल कई लोगों को किंग जॉर्ज अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। वहां के लिए हेल्‍पलाइन नंबर 022-22620242 जारी किया गया है।

  • कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने घटनास्‍थल का दौरा करने के बाद इस मामले में बीएमसी के खिलाफ एमआईआर दर्ज करने की मांग की है।
  • महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने घटना पर दुख जताया है। उन्‍होंने राहत कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए।

हादसे के बाद महाराष्‍ट्र के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने घटनास्‍थल का निरीक्षण किया। उन्‍होंने कहा कि इसकी जांच की जा रही है कि किन कारणों से इतना बड़ा हादसा हुआ।

इस पुल बनाने की जिम्मेदारी – 

इस पुल बनाने की जिम्मेदारी बीमसी की थी जिसके प्रमुख है विश्वनाथ पांडुरंग,महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फर्नांडिस, इस क्षेत्र सांसद अरविंद सावंत, पीडब्ल्यूडी का दफ्तर यहीं पास ही है । इस हादसे में सब दोषी हैं। क्या इनका एक ट्वीट काफी होगा। सोचना तो होगा। 

 

 

  • एक प्रत्‍यक्षदर्शी के अनुसार, हादसे के वक्‍त रेड सिग्‍नल था, जिसकी वजह से कई गाड़‍ियां रुकी थीं, अन्‍यथा हादसा और भी बड़ा हो सकता था और कई अन्‍य लोगों की जान भी जा सकती थी।

  • इस ब्रिज को ‘कसाब ब्रिज’ भी कहा जाता है। बताया जाता है कि 26/11 मुंबई हमलों के दौरान आतंकी कसाब इसी ब्रिज से होकर गुजरा था।
  • हादसा बेहद भीड़भाड़ वाले इलाके में हुआ है। हादसे के बाद आई तस्‍वीरों में ब्रिज का एक पूरा हिस्‍सा टूटा नजर आ रहा है।
  • ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्‍तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के विधायक वार‍िस पठान ने ब्रिज हादसे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार पर हमला बोला है। उन्‍होंने कहा कि मोदी सरकार के पास सरदार पटेल की मूर्ति बनाने के लिए 6,000 करोड़ रुपये हैं, पर आम लोगों के लिए पैसे नहीं हैं।
  • बताया जाता है कि इसकी देखभाल बीएमसी के जिम्‍मे था और 2016 में इसकी मरम्‍मत भी की गई थी।
  • इस घटना के बाद मुंबई में विकास कार्यों को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इस ब्रिज की देखभाल बृहनमुंबई म्‍यूनिसिपल कॉरपोरेशन करता था। 2016 में इसकी मरम्‍मत किए जाने की बात भी सामने आ रही है। बताया जाता है कि यह ब्रिज बीएमसी मुख्‍यालय से महज 500 मीटर की दूरी पर था।

जिस जगह पर यह हादसा हुआ है, वह बेहद भीड़भाड़ वाला इलाका है। ऐसे में ब्रिज के मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका है। फुटओवर ब्रिज के मलबे में 10-12 लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है। राहत एवं बचावकर्मी मलबे से लोगों को बाहर निकालने के काम में जुटे हैं। घटना के बाद यहां पुलिस की कई टीम को भेजा गया है। साथ ही स्थानीय प्रशासन भी हालात पर नजर बनाए हुए है।

मुआवजे का ऐलान-

घटना के बाद महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस मौके पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि मुंबई में टाइम्स ऑफ इंडिया बिल्डिंग के पास हुए फुटओवर ब्रिज के एक हिस्सा गिरने की खबर से बहुत दुखी हूं।

बीएमसी और स्थानीय प्रशासन को हर संभव सहायता के लिए निर्देश दिया है। हादसे की उच्चस्तरीय जांच के आदेश भी दिए। इसके साथ ही सीएम में मृतकों के परिजनों के 5 लाख तथा घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे का एलान किया।

रेलवे के सूत्रों के अनुसार, इस ब्रिज के मलबे में अभी भी कई लोगों के दबे होने की आशंका है, जिसे देखते हुए इलाके में बड़े स्तर पर राहत कार्य शुरू कराए गए हैं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x