चैत्र शुक्ल पक्ष की नवरात्र पर महिला शाखा तुलसी ने गाए मंगल गीत

एक विचित्र पहल सेवा समिति रजि. औरैया की महिला शाखा तुलसी द्वारा आज दिनांक 4 अप्रैल 2022 दिन सोमवार को शाम 4: बजे फूलमती मंदिर, औरैया में नवरात्रि के पावन अवसर पर फूलमती मैया की पूजा- अर्चना आरती व श्रृंगार किया गया उसके उपरांत धार्मिक आस्था उल्लास व उमंग के साथ ढोलक की थाप पर मंगल गीतों का आयोजन किया गया।

महिला शाखा तुलसी की प्रभारी बबिता गुप्ता ने बताया कि आज तृतीय चंद्रघंटा मां दुर्गा के स्वरूप की विधि विधान से पूजा अर्चना होती है मां चंद्रघंटा के शिख पर चंद्र और हाथ में घंटा है, चंद्रमा शांति और घंटा नाद का प्रतीक है, सुर और संगीत दोनों को ही वशीकरण का बीज मंत्र माना गया है, चंद्रघंटा देवी इसी की आराध्य शक्ति हैं, इनका स्वरूप शांति प्रदायक व कल्याणकारी है, मां चंद्रघंटा की उपासना से समस्त पाप बाधाएं दूर होती हैं।

माता के दर्शन मात्र से प्राणी भयमुक्त हो जाता है, नवरात्रों में क्षणभंगुर शरीर को स्वस्थ व प्रसन्नचित् व आनंद मंगल के लिए अंतर्मन से देवी मां का ध्यान करना चाहिए,

शाखा की अध्यक्ष लक्ष्मी गुप्ता (विश्नोई) ने बताया कि नौ दिन देवियों का श्रंगार, विधि विधान से पूजा अर्चना, आराधना व भजन संकीर्तन करने से देवी मां प्रसन्न होती हैं, सच्चे मन से देवियों की आराधना करने से साधक की सर्व मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। 

घर में सुख-समृद्धि व शांति के साथ संकटों से मुक्ति मिलती है। मंगल गीतों के कार्यक्रम में प्रमुख रूप से महिला शाखा तुलसी की शाखा की कोषाध्यक्ष क्षमा सोनी, सुनीता चौबे, रजनी विश्नोई मधु शर्मा, अनीता पोरवाल, तृप्ति मिश्रा, शांति गुप्ता ममता बिश्नोई, सुमन पोरवाल, रिंकी शुक्ला, उमा गहोई, प्रतिमा सविता, सुमन पोरवाल, सीमा पोरवाल आदि आधा सैकड़ा महिला सदस्या मौजूद रही।

Sach ki Dastak

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x