पोस्टमार्टम की रिपोर्ट को मृतिका के परिजनों ने फेक बताया है

 जनपद के सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर गाँव में रविवार की अपराह्न गैगेस्टर एक्ट के तहत वाॅछित अभियुक्त को गिरफ्तार  करने पहुंची पुलिस दल उस समय अजमंसज में पड़ गयी। जब मकान में ही एक 24वर्षीया युवती निशा उर्फ गुङिया का संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले को लेकर तरह तरह की चर्चाओं का बाज़ार गर्म रहा। वहीं गुंजन 20वर्षीया की हालत चिन्ताजनक बताई गयी है। आक्रोषित भीड़ ने पैंथर से गुजर रहे दो सिपाहियों की पिटाई कल दिया। जिससे गंभीर रूप से घायल हो गए थे।
पुलिसिया कार्रवाई
घटना स्थल पर पहुँचे पुलिस के आलाधिकारी के निर्देश पर पुलिस अधीक्षक  अंकुर अग्रवाल ने तत्काल प्रभाव से सैयदराजा थानाध्यक्ष उदय प्रताप सिंह को निलंबित कर दिया है और मृतक के परिजन के तहरीर पर  आईपीसी की धारा 452,323,304 के तहत थानाध्यक्ष  समेत आधा दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज किया ।
पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मृतिका के मौत की गुच्छी उलझी
 चंदौली में पुलिस की दबिश के दौरान युवती के मौत के मामले में पोस्टमार्टम में मौत की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है।ऐसे में बिसरा को सुरक्षित कर लिया गया है।डीएम और एसपी चंदौली ने संयुक्त रूप से आयोजित वार्ता में कहा है कि डॉक्टरों के त्रिस्तरीय पैनल द्वारा वीडियोग्राफी के साथ पोस्टमार्टम कराया गया है।इस रिपोर्ट में गले के पास मामूली खरोच व जबड़े के नीचे आधा सेंटीमीटर की मामूली चोट प्रकाश में आई है।आंतरिक अंगों में किसी प्रकार की चोट का निशान नहीं पाया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण स्पष्ट नहीं होने के कारण बिसरा रिजर्व कर लिया गया है।साक्ष्यों के आधार पर जांच की जाएगी। मृतिका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गयीजिसे मृतिका  के परिवार वालो फेक रिपोर्ट करार दिया है।
विसरा रिपोर्ट पर आगे की कार्यवाही होगी
कानूनी जानकारों के मुताबिक, अगर मौत संदिग्ध परिस्थिति में हो और अंदेशा हो कि जहर से मौत हुई है तो विसरा की जांच की जाती है।विसरा प्रिजर्व करने के दौरान डेड बॉडी से लीवर, स्प्लीन और किडनी का पार्ट रखा जाता है। साथ ही शरीर में मौजूद फ्लूड आदि को प्रिजर्व किया जाता है। मृतिका निशा के विसरा को इसलिए प्रिजर्व रखा गया है।
गांव में स्थित तनाव पूर्ण
रविवार की घटना के बाद मनराजपुर में स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है घटनास्थल पर चारों तरफ पीएसी के जवान तैनात हैं भारी संख्या में पुलिस की मौजूदगी के कारण लोग घरों में रहने के लिए मजबूर हो गए हैं लेकिन ग्रामीणों की माने तो उनके अंदर पुलिस के प्रति काफी नफरत है पुलिसिया कार्रवाई जो नहीं होनी चाहिए थी व हुई है इसलिए उनके गांव की बेटी हमेशा के लिए हम लोग से जुदा हो गयी।
समाजवादी पार्टी के  पूर्व सांसद व वर्तमान सकलडीहा के वर्तमान विधायक प्रभु नारायण यादव पहुंचे घटनास्ल
मनराजपुर की घटना का जायजा लेने के लिए पूर्व सांसद चंदौली रामकिशुन यादव व समाजवादी पार्टी के सकलडीहा के विधायक प्रभु नारायण यादव रविवार की रात में घटना स्थल पर पहुंचे। पुलिस अधिकारियों से वार्ता करने के बाद विधायक प्रभु नारायण यादव ने बताया की घटना शर्मनाक है। वर्तमान सरकार की पुलिस की करतूत यहां जग जाहिर हो गई है। पुलिस की वजह से ही बिटिया की जान गई है ।पुलिस के आलाधिकारी ने जो कार्यवाही का भरोसा दिलाया है यदि उसके मुताबिक कार्यवाही करते हैं तब तो ठीक है ।नहीं तो समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता सड़क पर उतरने के लिए बाध्य हो जाएंगे । मृतिका को इंसाफ जब तक नहीं मिलेगा तब तक हम लोग नहीं बैठेगे हैं।

 

Sach ki Dastak

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x